अंकुरित ‘चना’ और ‘मुंग’ खाने के फायदे:तनाव दूर करता है, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है,

8861

तनाव दूर करता है, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है, गर्भवती महिलाओं के लिए स्वस्थ आहार सुबह खाली पेट अंकुरित चने खाने से शरीर मजबूत होता है और बीमारियां दूर रहती हैं। साबुत अंकुरित चने खाने से शरीर में प्रोटीन बना रहता है। आप इसे सलाद में भी मिला सकते हैं। इसमें प्रोटीन, विटामिन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो तनाव से राहत दिलाती है। आहार डॉ. से जानते हैं चना और मूंग खाने के फायदे-

अंकुरित चने खाने से रहेंगे आप स्वस्थ

छोले आयरन और फास्फोरस से भरपूर होते हैं, जो हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाते हैं। इसका रोजाना सेवन करने से एनीमिया और कमजोरी दूर होती है।सुस्ती और थकान से बचने और हर समय ऊर्जावान रहने के लिए अंकुरित चने रोजाना खाएं, कुछ ही दिनों में आप ऊर्जावान महसूस करेंगे।फाइबर से भरपूर छोले भीगे हुए खाने से कब्ज ठीक हो सकता है।बार-बार पेशाब आने की समस्या हो तो चना खाने से आराम मिलेगा।खाली पेट छोले खाने से ग्लूकोज की मात्रा नहीं बढ़ती, इसलिए मधुमेह को नियंत्रित किया जा सकता है।मानसिक तनाव से गुजर रहे लोगों के लिए चना किसी औषधि से कम नहीं है।पीलिया के मरीजों के लिए चना फायदेमंद होता है।अंकुरित चने को मग में मिलाकर खाने से प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है।


वजन घटाने में सहायक

डॉ. कहते हैं कि छोले प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होते हैं लेकिन कैलोरी में कम होते हैं, जो भूख को संतुलित करते हैं। भीगे हुए छोले आपके पेट को साफ करते हैं। टेलर और रॉबर्ट मरे द्वारा एनसीबीआई पर 2016 में प्रकाशित शोध के अनुसार, रोजाना छोले खाने से मोटापे का खतरा 53 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

ऊर्जा का एक समृद्ध स्रोत,

काले चने में मैंगनीज, थियामिन, मैग्नीशियम और फास्फोरस जैसे पोषक तत्व होते हैं। इसके नियमित सेवन से शरीर को भरपूर ऊर्जा मिलती है।

चने का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। फाइबर और प्रोटीन का अच्छा स्रोत रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है। ‘द अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन’ में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों ने 200 ग्राम छोले का सेवन किया उनमें ब्लड शुगर का स्तर कम था।

पाचन तंत्र मजबूत होता है

चना खाने से पाचन क्रिया मजबूत होती है और मेटाबॉलिज्म तेज होता है। बढ़ा हुआ मेटाबॉलिज्म शरीर को वसा को ऊर्जा में बदलने की अनुमति देता है। इसके अलावा यह आयरन से भरपूर होता है, जो इसकी कमी से होने वाले एनीमिया के इलाज में मदद कर सकता है।

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाता है

विशेषज्ञों का कहना है कि जो पुरुष कम शुक्राणुओं की संख्या से जूझ रहे हैं, वे सुबह भीगे हुए छोले का सेवन करके अपने वैवाहिक जीवन को फिर से मजबूत कर सकते हैं। विशेषज्ञ कम शुक्राणुओं की संख्या को दूर करने के लिए 1 चम्मच चीनी के साथ एक मुट्ठी भीगे हुए छोले खाने की सलाह देते हैं।

चने खाने के तुरंत बाद न खाएं ये चीजें

अगर आप खाली पेट चने खाते हैं तो कुछ चीजों से बचना बेहद जरूरी है:

दूध– चने खाने के बाद दूध न पिएं, ऐसा करने से सफेद दाग की समस्या हो सकती है.

लहसुन– पके हुए चना और लहसुन को आप एक साथ खा सकते हैं, लेकिन चना खाने के बाद सूखा लहसुन न खाएं, ऐसा करने से त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

अंडे – छोले और अंडे दोनों ही उच्च प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ हैं। दोनों को एक साथ खाने से रिएक्शन हो सकता है, जो पेट के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है।

बीमारियों को दूर रखती है अंकुरित मूंग की दाल

डॉ. का कहना है कि कुछ लोग इसे अंकुरित काले चने के साथ मिलाते हैं जबकि कुछ लोग अंकुरित मूंग का ही सेवन करते हैं। रोजाना खाली पेट एक कटोरी मूंग की दाल खाने से भरपूर प्रोटीन मिलता है। इसके साथ ही इसमें फाइबर, पोटैशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन बी-6 भी होता है। ये सभी तत्व किसी हेल्थ टॉनिक से कम नहीं हैं, इनके सेवन से बीमारियां दूर रहती हैं।

जानिए अंकुरित मूंग खाने के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं?

वजन घटाने में मदद करता है अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो अपने आहार में अंकुरित मूंग को शामिल करें। इसमें प्रोटीन के अलावा फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। अगर आप इसका रोजाना सेवन करेंगे तो आपका वजन कम होगा।


पाचन के लिए

अच्छा अंकुरित मूंग में अच्छी मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन के लिए बहुत अच्छा होता है। इसमें मौजूद मेटाबॉलिज्म बढ़ाने वाले एंजाइम भूख को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। जिससे पाचन तंत्र पोषक तत्वों को ठीक से अवशोषित कर पाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here