China: आईफोन की सबसे बड़ी फैक्ट्री से भाग गए कर्मचारी, आसपास के इलाके में लगा कोरोना लॉकडाउन

233

China Corona Lockdown: चीन ने झेंगझोऊ एयरपोर्ट इकॉनमी जोन स्थित आईफोन (iPhone) बनाने वाली सबसे बड़ी फैक्ट्री के आसपास कोरोना लॉकडाउन (Corona Lockdown) लगा दिया है. कोरोना के डर से कर्मचारी फैक्ट्री से भागने लगे थे. ताइवान (Taiwan) की टेक कंपनी फॉक्सकॉन (Foxconn) यहां आईफोन का एक बड़ा प्लांट चलाती है. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि बुधवार (2 नवंबर) को फॉक्सकॉन के लिए सात दिन का स्टेटिक मैनेजमेंट (Static Management) लागू कर दिया गया है. स्थानीय संदर्भ में स्टेटिक मैनेजमेंट का मतलब लॉकडाउन होता है.

चीनी अधिकरियों के मुताबिक, पिछले एक हफ्ते में दातोंग (Datong), जिनिंग (Xining), नानजिंग (Nanjing), जियान (Xian), झेंगझोऊ (Zhengzhou) और वुहान (Wuhan) में कोरोना के मामले (China Corona Cases) बढ़े हैं, जिससे कुछ इलाकों में अस्थायी तालाबंदी की गई है.

चौगुना डेली बोनस ऑफर कर कर्मचारियों को रोक रही कंपनी

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, आईफोन सप्लायर फॉक्सकॉन ने कर्मचारियों को भागने से रोकने के लिए उनका डेली बोनस चौगुना करने की बात कही है. कंपनी ने कहा है कि झेंगझोऊ प्लांट में असेंबली लाइन के कर्मचारियों के लिए एक दिन का बोनस 400 युआन (भारतीय करेंसी के हिसाब से आज के 4556.19 रुपये) तक बढ़ाया जाएगा. सप्ताहांत में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें लोगों को चाहरदीवारी से कूदकर प्लांट से भागते हुए देखा गया था.

ताज़ा वीडियो

WeChat सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फॉक्सकॉन ने यह भी घोषणा की है कि दुनिया की सबसे बड़ी आईफोन फैक्ट्री में जिन लोगों ने एक महीने में 25 दिन से ज्यादा काम किया है, उन्हें अधिकतम बोनस 5000 युआन (भारतीय करेंसी में 56952.40 रुपये ) से लेकर 15,000 युआन (भारतीय करेंसी में 1,70,857.20 रुपये) तक दिया जाएगा. कंपनी ने कहा कि जो लोग नवंबर में बिना छुट्टी लिए काम करेंगे, उन्हें महीने के लिए कुल 15,000 युआन से ज्यादा बोनस दिया जा सकता है.

कंपनी ने नहीं बताया कोरोना संक्रमित कर्चचारियों का आंकड़ा

लॉकडाउन ऐसे समय लगा है जब फॉक्सकॉन में फिलहाल आईफोन 14 का उत्पादन चल रहा है. कंपनी ने अब तक आधिकारिक तौर पर यह गिनती नहीं की है कि उसके प्लांट में कितने कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं. पिछले बुधवार को फॉक्सकॉन ने कहा था कि झेंगझोऊ में कुछ कर्मचारी महामारी से संक्रमित हुए हैं और उनकी देखभाल की जा रही है.

बता दें कि इसके अलावा भी चीन के कई इलाकों में कोरोना लॉकडाउन लगाया गया है. चीन के एक बड़े शहर वुहान के आधे इलाके में लॉकडाउन चल रहा है. अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार (30 अक्टूबर) को चीन में 2,898 कोरोना केस सामने आए थे. यह लगातार दूसरे दिन दो हजार से ज्यादा केस का आंकड़ा था. चूंकि जिनपिंग सरकार ने शून्य कोविड नीति लागू की है, इसलिए देश के कई बड़े शहर कोरोना लॉकडाउन का सामना कर रहे हैं.

शंघाई डिजनी पार्क में कैद हो गए लोग!

रिपोर्ट के मुताबिक, शंघाई डिजनी रिजॉर्ट ने सोमवार (31 अक्टूबर) को कहा कि उसने कोरोना की रोकथाम के उपायों के चलते पूरी जगह को बंद कर दिया है. शंघाई डिजनी पार्क को लेकर चौंकाने वाली बात यह भी है कि जब इसे बंद किया गया तो जो लोग भीतर थे, उनसे कहा गया कि कोविड निगेटिव रिपोर्ट दिखाए बिना वे बाहर नहीं जा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here