सोशल मीडिया पर युवती को हुआ प्यार,फिर हो गई जिंदगी बर्बाद ,युवक ने लड़की को लौटाने के लिए पिता से मांगे एक लाख रूपये

526

एक पिता अपनी बेटी को छुड़ाने के लिए 1 लाख की रकम देगा तो बेटी मिलेगी नहीं तो अंजाम बुरा होगा

मानवता को झकझोर देने वाली एक घटना ने एक बेबस पिता की जिंदगी हराम कर रखी है। एक लाचार पिता से उसकी बेटी को वापस लौटाने के बदले मोटी रकम की मांग की जा रही है। पिता को ये भी मालूम नहीं कि बेटी जिंदा है और सुरक्षित है।

इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका संदेहों के घेरे में है। पिता ने थाने में रिपोर्ट भी लिखवा रखी है। मगर अब तक पुलिस का रवैया सुस्ती भरा रहा कोई सफलता नहीं मिली। दरअसल पूरा मामला बंगाल से शुरु होता है। बंगाल की कुल्टी निवासी सना आफरीन जो, मो नसीम खान की बेटी हैं। वो एक दिलफेंक झूठे फरेबी आशिक 27 वर्षीय युवा हिमांशु परमार को दिल दे बैठती है। मामला प्रेम प्रसंग और धोखाधड़ी का है।

सना और हिमांशु का प्रेम सोशल मीडिया से परवान चढ़ता है। दोनों की सोशल मीडिया पर बातें शुरु होती है। जिसमें युवक हिमांशु प्रोफाईल में अपनी पहचान बतौर डॉक्टर लगा रखी थी। जिससे युवती उसके झांसे में आ जाती है और उसके आकर्षण में पड़ जाती है। उसे लगता है कि पेशे से डाक्टर ये युवक उसे दुनिया की तमाम खुशियां दे देगा। उसे जन्नत नसीब करा देगा। मगर उसे क्या पता था कि आने वाले समय में उसकी किस्मत में फरेब और लाचारी का आलम होगा। इस लड़के को वो दिल दे बैठी और उससे मिलती है।

प्यार परवान चढ़ता है। मगर लड़के ने इस लड़की को ऐसी मुसीबत में डाल दी। जहां से निकलना उसके लिए एक चुनौती बनती जा रही है। ये लड़की बंगाल की कुल्टा निवासी है। लड़का बडोदरा का रहने वाला है। वो इससे मिलने बंगाल पहुंच जाता है। सोशल मीडिया पर हुई मुलाकात अब मुहब्बत के जज्बातों को जगा चुका था। मामला एक होने तक पहुंच गया था। लड़का उसे लेकर गुजरात के बडोदरा शहर पहुंच जाता है। लड़के ने झांसा देने की नीयत से अपने साथ एक महिला को भी लाया था। इससे लड़की और मोहित हो जाती है। मगर बडोदरा पहुंचने के बाद कहानी बदल जाती है। उस लड़की को पता चलता है कि जिस शख्स को वो भला समझती थी।

उसकी असली सच्चाई कुछ और ही है। ये लड़का फर्जी निकला। ये न तो कोई डाक्टर है और न ही शराफत से जिंदगी जीने वाला शख्स। इसके तार कुछ संदिग्ध लोगों से जुड़े हुए थे। इस लड़के ने लड़की को एक संदिग्ध गिरोह के हाथों बेच दिया। जो ऐसी अनेकों लड़कियों को बंधक बनाकर रखता है। बाद में उसके परिवार के लोगों से मोटी रकम वसूल कर उन्हें छोड़ता है। यदि रकम नहीं मिलती है तो लड़कियों को बार्डर के इलाकों में पैसों वालों से बेच देता है। मामला मानव तस्करी जैसे जघन्य अपराध का है। युवक हिमाशु का पुराना इतिहास भी कुूछ ऐसा ही रहा है। पूर्व में भी इसने कुछ लड़कियों के साथ ऐसा ही किया है।

पिता के पास जब गिरोह के लोग फोन करने लगे और फिरौती की रकम के तौर पर 1 लाख मांगने लगे तो पिता डर गए। वो रकम देने को तैयार हैं मगर बेटी की सलामती जानना चाहते हैं। मगर अभी तक कोई तस्वीर या वीडियो भेजी नहीं गयी। पिता ने इस पूरे मामले पर एक गुमशुदगी की रिपोर्ट कुल्टी थाने में थानाध्यक्ष को लिखवाई है। युवती की उम्र 20 वर्ष है और वो पिछले माह 12 जून से गायब है। एक बेवस पिता न्याय की गुहार लगा रहा है। मगर पुलिस ने मामले को दो राज्यों की सीमा विवाद बताकर अपनी लाचारी जाहिर कर दी है। मगर बेवस पिता न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here