महागठबंधन पास 26 अगस्त को होगा अध्यक्ष का चुनाव |

214

बिहार में सियासी गर्मी बढ़ती जा रही हैं जिस तरह महागढबंधन की नयी सरकार बनते ही नीतीश और तेजस्वी की दोस्ती भी गहरी होती जा रही हैं  वही बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार का विश्वासमत पहले ध्वनिमत से फिर वोटिंग की प्रक्रिया से पारित हो गया।

बिहार विधानसभा में विश्वासमत वोटिंग की प्रक्रिया में भी पारित हो गया है। इस प्रक्रिया में पक्ष में 160 विधायकों ने वोट दिये तो वहीं विपक्ष में शून्य विधायकों ने वोटिंग किया हालांकि इस दौरान बीजेपी के सदस्यों ने वॉकऑउट किया।

बिहार में महागठबंधन की सरकार के गठन के बाद विधानसभा में नीतीश कुमार ने विश्वास मत पेश किया। विश्वासमत सदन में पास हो गया है। विश्वास मत प्रस्ताव के पक्ष में 160 वोट मिले हैं। सरकार को ओवैसी की पार्टी AIMIM ने समर्थन किया है। वहीं वोटिंग के समय बीजेपी ने वॉकऑउट किया। इससे विश्वास मत के विरोध में एक वोट भी नहीं पड़े।

इस दौरान विपक्षी दलों ने सदन में जमकर हंगामा मचाया। विधानसभा में मौजूद रहे पक्ष और विपक्ष के नेताओं ने एक दूसरे पर जमकर हमला बोला। सदन की अध्यक्षता डिप्टी स्पीकर महेश्वर हजारी ने किया। फ्लोर टेस्ट पर भाषण के दौरान बीजेपी नेता तारकिशोर प्रसाद ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि राजद से गठबंधन कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनादेश का अपमान किया है। वही मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जवाब देते हुए सदन में सरकार का पक्ष रखा। कहा कि आपने कौन सा अच्छा काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here