नीतीश की विदाई तय: 2023 से नीतीश देश की लड़ाई लड़ेंगे , सीएम की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप देंगे

357
नीतीश की विदाई तय: 2023 से नीतीश देश की लड़ाई लड़ेंगे , सीएम की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप देंगे

राजद में लालू यादव के बाद वरीयता में दूसरे नंबर के नेता और बिहार में राजद के सत्ता आने के बाद दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बने जगदानंद सिंह ने कहा कि बिहार राजद के नेता तेजस्वी का इंतजार कर रहा है। उसी तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का इंतजार देश कर रहा है। जगदानंद सिंह के इस बयान के बाद जेडीयू में भारी खलबली मच गयी थी. खबर ये आ रही है कि नीतीश कुमार ने खुद लालू प्रसाद यादव से बात कर गुहार लगायी थी. इसके बाद आज जगदानंद सिंह ने अपने पुराने में थोडा सुधार किया. जगदानंद सिंह ने शुक्रवार को कहा-नीतीश के सीएम पद छोड़ने का समय तय नहीं है लेकिन देश का नेतृत्व करने के लिए उन्हें बिहार छोड़कर जाना ही होगा. उन्हें पूरे देश में घूमना होगा. जगदानंद सिह ने कहा-नीतीश कुमार खुद तेजस्वी को मुख्यमंत्री के लायक समझते हैं, फिर घबराने की बात क्या है.

जगदानंद सिंह का नया बयान

जगदानंद सिंह शुक्रवार को दिल्ली से पटना पहुंच गये. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा-आप ही लोगों ने दिखाया कि नीतीश कुमार तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री कह कर संबोधित कर रहे थे. फिर इसमें घबराने की क्या बात है. अगर नीतीश जी का व्यक्तित्व राष्ट्रीय नेतृत्व के लायक है तो बिहार खाली नहीं न रहेगा. तेजस्वी यादव ही मुख्यमंत्री बनेंगे

नीतीश देश घूमने जायेंगे

जगदानंद सिंह ने कहा कि हम सभी लोगों ने तय कर दिया है कि वरिष्ठ समाजवादी नेता होने के कारण नीतीश कुमार प्रधानमंत्री पद के दावेदार हैं. पूरे देश में लोगों को एकजुट करने के लिए, जन आंदोलन की तैयारी करने के लिए जनता के बीच जाना ही पड़ेगा. 2024 में लोकसभा चुनाव होने हैं. अगर बीजेपी को देश की सत्ता से बेदखल करना है तो पूरे देश के अंदर जनता को गोलबंद करने का प्रयास नीतीश कुमार को करना पड़ेगा. देश नीतीश कुमार की ओर देख रहा है

समय तय नहीं लेकिन नीतीश की विदाई तय

जगदानंद सिंह ने कहा कि ये समय तय नहीं है कि कब नीतीश कुमार को बिहार के मुख्यमंत्री पद की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप देना है. लेकिन नीतीश कुमार को देश और बिहार के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए केंद्र की राजनीति करनी है. इसके लिए 2024 से पहले ही मैदान में जाना पड़ेगा.

एक कदम पीछे क्यों हटे जगदानंद

बता दें कि गुरुवार को ही दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए जगदानंद सिंह ने कहा था कि 2022 के बाद यानि में नीतीश कुमार बिहार के सीएम पद को छोड़ेंगे और देश की राजनीति करने जायेंगे. तेजस्वी यादव बिहार के सीएम बन कर जनता की आकांक्षाओं को पूरा करेंगे. जगदानंद सिंह कोई सामान्य नेता नहीं हैं. वे राजद के प्रदेश अध्यक्ष के साथ साथ लालू-तेजस्वी के सबसे करीबी नेता माने जाते हैं. उऩके बयान के बाद जेडीयू में भारी खलबली मची थी. सूत्रों के मुताबिक नीतीश कुमार ने खुद फोन पर लालू यादव से बात की थी. नीतीश ने गुहार लगायी थी कि भविष्य की योजना के सार्वजनिक होने से राजद और जेडीयू को सियासी नुकसान हो सकता है औऱ बीजेपी इसका फायदा उठा सकती है. इसके बाद लालू यादव ने जगदानंद सिंह से बात की थी.

लालू यादव से बात करने के बाद भी जगदानंद सिंह अपने बयान से पलटे नहीं. उन्होंने आज फिर कहा कि जब नीतीश कुमार खुद ही तेजस्वी को मुख्यमंत्री कह कर संबोधित कर रहे हैं तो फिर तेजस्वी के सीएम बनने में शक कहां है. राजद के प्रदेश अध्यक्ष ने फिर कहा कि नीतीश देश की राजनीति करेंगे औऱ तेजस्वी बिहार चलायेंगे. उन्होंने अपने पिछले बयान में सिर्फ समय सीमा को संशोधित किया. उन्होंने कहा कि 2023 की समय सीमा तय नही है. लेकिन इशारों में जगदानंद सिंह पुरानी बात भी कह ही गये. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को 2024 से पहले देश के लोगों को गोलबंद करने करने के अभियान में निकलना होगा. जब नीतीश देश भर में अभियान में निकलेंगे तो बिहार खाली थोड़े ही रहेगा. घूम फिर कर जगदानंद सिंह ने आज फिर पुरानी बात ही दुहरा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here