AAP ने हवाला के जरिए लिए पैसे, ED की चार्जशीट में दावा; गोवा चुनाव से भी कनेक्शन

170

दिल्ली के कथित आबकारी नीति घोटाले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी पूरक चार्जशीट में कई बड़ी बातें कही है। प्रवर्तन निदेशालय ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी ने साउथ ग्रुप की लिकर लॉबी से 100 करोड़ रुपये की घूस ली और इसका इस्तेमाल साल 2022 में हुए गोवा विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान किया।

ईडी ने शराब घोटाले को लेकर मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित मामले की जांच के बाद अपनी पूरक चार्जशीट में यह बात कही है। दिल्ली की एक अदालत ने इस चार्जशीट पर संज्ञान लिया है।

ईडी का आरोप है कि जांच में पाया गया है कि Chariot Productions Media Pvt Ltd कंपनी के मालिक राजेश जोशी और कई अन्य लोग पूरे अपराध को अंजाम देने में कई तरह से शामिल थे। ईडी का आरोप है कि Chariot Productions Media Pvt Ltd ने ना सिर्फ बैंकिंग चैनल के जरिए पेमेंट दिये बल्कि हवाला नेटवर्क के जरिए कैश पेमेंट भी दिये और सही मायने में इन पैसों का फायदा AAP को हुआ जिसने पैसों का इस्तेमाल गोवा विधानसभा चुनाव के दौरान किया था।

इसमें कहा गया है कि मनी लॉन्ड्रिंग की जांच पीएमएलए के तहत पिछले साल शुरू की गई थी। जांच में पाया गया कि 30 करोड़ रुपये हवाला नेटवर्क के जरिए ट्रांसफर किये गये थे। ये पैसे गोवा में चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी के चुनाव कैंपेन के लिए वेंडरों को दिए गये थे। ईडी के कहा है कि यह पेमेंट बैंकिंग चैनल और कैश दोनों ही तरीके से दिये गये थे।

इससे पहले पिछले महीने ईडी की तरफ से जो चार्जशीट एक स्थानीय अदालत में दायर की गई थी उसमें कहा गया था कि 80 लाख रुपये का बाद में पता चला जो कि वेंडरों को प्रचार और आप के लिए सर्वे कराने के सिलसिले में दिए गए थे। आरोप लगाया गया कि पैसों के लेनदेन की यह कड़ियां आपस में जुड़ी हुई हैं और इससे पता चलता है कि पूरे अपराध 100 करोड़ रुपया शामिल है और इन पैसों का इस्तेमाल आम आदमी पार्टी के नेताओं के लिए किया गया था। इसमें मंत्री और आप सरकार के सहयोगी भी शामिल हैं जो शराब घोटाले के आर्किटेक हैं।

हालांकि, आम आदमी पार्टी पहले ही इन सभी आरोपों से इनकार कर चुकी है। हाल ही में ईडी के द्वारा दायर किये गये चार्जशीट को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट में आप सांसद राघव चड्डा का नाम आने की बात कही गई। लेकिन राघव चड्डा ने सामने आकर साफ कहा है कि उनका नाम किसी आरोपी या संदिग्ध के तौर पर ईडी के शिकायत पत्र में नहीं है और न्यूज रिपोर्ट में उनका नाम शराब घोटाले में आने को लेकर जो कुछ भी दिखाया जा रहा है वो तथ्यात्मक तौर पर गलत है। उन्होंने साफ कहा कि यह उनकी छवि खराब करने की कोशिश है। आपको बता दें कि अब तक इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here