अज्ञात आरोपियों ने ट्रेन में फिर किया पथराव, लोको पायलट की आंखों में आई गंभीर चोट

175

पेंड्रा, बिलासपुर। ट्रेनों में पथराव, चोरी और लाश मिलने की घटना के बाद ट्रेनों में पथराव की घटना आम हो गई है। शुक्रवार को खोंगसरा व टेंगनमाडा के बीच मालगाड़ी में पथराव किया गया । ट्रेन में पथराव से असिस्टेंट लोको पायलट उमाशंकर प्रजापति घायल हो गए। लोको पायलट को केंद्रीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

रेलवे के जागरूकता अभियान और आरपीएफ के सघन जांच पड़ताल का भी कोई असर नहीं दिख रहा है। शहडोल से बिलासपुर आ रही मालगाड़ी भिलाई-यूआइई जिसका लोको नंबर 28500 है। मुगलसराह का इंजन लगा हुआ था। मालगाड़ी अपनी चाल में आगे बढ़ रही थी कि खोंगसरा व टेंगनमाडा के बीच कल अचानक किसी अज्ञात तत्वों ने पत्थर मारना शुरू कर दिया।

पथराव से इंजन का कांच टूट गया। मास्टर ने जैसे तैसे अपने आप को बचाया। असिस्टेंट लोको पायलट उमाशंकर प्रजापति के बाएं आंख में एक पत्थर लगा। पत्थर लगने से आंख से खून बहने लगा। मास्टर ने ट्रेन को वहीं आउटर में खड़ा किया। बिकानेर-पुरी एक्सप्रेस से घायल उमाशंकर को बिलासपुर लाया गया। तत्काल उसे रेलवे के केंद्रीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी के मुताबिक अभी उनका इलाज चल रहा है। दूसरी ओर रेलवे जांच टीम बनाकर अज्ञात आरोपियों की तलाश में जुट गई है। आरपीएफ के ऋषि कुमार शुक्ला को इसकी जिम्मेदारी दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here