ये आसान से टिप्स छूमंतर कर डालेंगे सर्दियों वाली खुजली, आजमा कर देखिए

367

खुजली ऐसी चीज है जो गर्मियों में रुलाती है और सर्दियों में सताती है। सर्दयों वाली खुजली बहुत परेशान करती है। ऊनी कपड़े पहनने के कारण अधिकतर लोग खुजली से परेशान रहते हैं क्योंकि ये पसीने के कारण नहीं बल्कि ऊन से होने  वाली एलर्जी के कारण होती है। हालांकि कुछ आसान से टिप्स की बदौलत आप सर्दियों वाली खुजली से निजात पा सकते हैं।

एलोवेरा का जेल

alovera Gel

एलोवेरा जैल

ये आपके घर के बगीचे में भी हो सकता है और बाजार से भी मिल जाता है। एलोवेरा का जेल खुजली से संक्रमण औऱ इचिंग से राहत देता है। दरअसल एलोवेरा जेल अपने आप में एंटी एलर्जिक और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। इसे शरीर के उन हिस्सों में लगाइए जहां खुजली ज्यादा होती है, कुछ समय में खुजली खत्म हो जाएगी।

आपको बस इतना करना है कि घर में एलोवेरा जेल की पत्तियों से जेल निकाल कर किसी बर्तन में रखकर फ्रिज में रख देना है, जब इस्तेमाल करना हो, निकाल कर लगाइए। अगर घर में पौधा नहीं है तो बाजार में एलोवेरा जैल मिल जाएगा।

तुलसी के पत्ते

tulsi leaves

तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्तों में एंटीमाइक्रोबियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो खुजली खत्म करने में सहायक होते हैं। शरीर में जहां खुजली हो रही हो वहां तुलसी के पत्तों को धोकर रगड़ लीजिए। चंद मिनटों में खुजली खत्म हो जाएगी। आपको लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करना है तो तुलसी के पत्तों को धो पोंछकर इनका पेस्ट बना लीजिए औऱ फ्रिज में रख दीजिए। जब जरूरत हो इस्तेमाल कीजिए।

नींबू

lemon

नींबू

खुजली करते करते सूजन और लाली आ गई है तो नींबू का प्रयोग करें। नींबू में सिट्रिक और एसिटिक एसिड होता है। इतना ही नहीं नींबू एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल व एंटी-इरिटेंट गुणों से भरपूर है। इसका रस निकाल कर रुई की मदद से प्रभावित जगह पर लगाइए औऱ कुछ समय के लिए छोड़ दीजिए। खुजली और जलन कम होगी।

नीम

neem leaves

नीम की पत्तियां

बचपन में खुजली से बचने के लिए नीम का पाउडर लगाया गया होगा आपको। नीम खुजली में काफी प्रभावकारी होता है। दरअसल नीम की पत्तियों में एंटीवायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं और इसे लगाने से खुजली वाली त्वचा को आराम मिलता है। आप चाहें तो नीम की पत्तियों को पानी में उबाल कर उस पानी से स्नान कीजिए या फिर नीम का पेस्ट बनाकर खुजली वाली जगह पर लेप कर सकते हैं। यह खुजली को लंबे समय तक दूर रखता है।

नारियल का तेल

nariyal tel

नारियल तेल

आज भी बड़े बुजुर्ग बच्चों को खुजली से बचाने के लिए शरीर पर नारियल तेल की मालिश करते हैं। नारियल के तेल में लोरिक एसिड नाम का एसिड पाया जाता है जो जो एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुणों से भरपूर बताया जाता है। आप खुजली वाली जगह पर नारियल का तेल लगाकर मालिश करें। चाहें तो थोड़ा सा कपूर भी इसमें मिला सकते हैं। इससे खुजली के रेशेज कम हो जाएंगे।

बेकिंग सोडा का स्नान

Baking soda

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा का वैज्ञानिक नाम सोडियम बाइकार्बोनेट है। यह खुजली में दवा की तरह काम करता है। आप हलके गर्म पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर स्नान कर सकते हैं। इससे खुजली कम होगी औऱ लगातार इस पानी से स्नान करने पर खुजली का अंत हो जाता है। दरअसल बेकिंग सोडा में मौजूद एंटीफंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण खुजली में काफी कारगर हैं।

आपको स्नान करने के लिए हलके गर्म पानी में आधा कप बेकिंग सोडा मिलाना है। इसे अच्छी तरह मिलाकर शरीर पर डालिए, चाहें तो बाथटब में कुछ देर के लिए बैठ भी सकते हैं, इससे खुजली में काफी आराम पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here