भारतीय शेयर बाजार पर इस सप्ताह अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम और डॉलर के मुकाबले रुपए की चाल का असर

274

मुंबई। अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है, जिसके चलते खाड़ी क्षेत्र में तनाव गहरा गया है। इसका असर पूरी दुनिया समेत भारत पर भी पड़ेगा। देश के शेयर बाजारों पर नए साल के दूसरे कारोबारी सप्ताह में पश्चिम एशिया के भू-राजनीतिक घटनाक्रमों का असर रहेगा। विश्लेषकों का कहना है कि इसमें होने वाले घटनाक्रमों से ही बाजार की दिशा तय होगी। कच्चे तेल की कीमतें और रुपए का उतार-चढ़ाव बाजार पर असर डालेगा।

भारतीय शेयर बाजार पर इस सप्ताह अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम और डॉलर के मुकाबले रुपए की चाल का असर देखने को मिलेगा। साथ ही, देश की कुछ प्रमुख कंपनियां चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) के अपने वित्तीय नतीजे घोषित करने वाली हैं, जिससे बाजार की चाल तय होगी। इसके अलावा इस सप्ताह देश-विदेश में जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से भी बाजार को दिशा मिलेगी। बता दें कि, इराक में हुए अमेरिकी ड्रोन हमले में शुक्रवार को ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद वैश्विक बाजारों में गिरावट का रुख है। इससे क्षेत्र में तनाव और बढ़ने की आशंका है। विश्व नेता जहां इस घटनाक्रम से चिंतित हैं वहीं ईरान ने अमेरिकी हमले के जवाब में कार्रवाई की धमकी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here