कांग्रेस विधायक हरदीप डंग के इस्तीफे को लेकर सस्पेंस कायम

261

मध्यप्रदेश की राजनीति में चल रही उठापटक में लापता कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे पर अभी तक सस्पेंस बरकरार है। विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति को इस्तीफा मिलने के बारे में भी स्थिति भी स्पष्ट नहीं हो पा रही है। डंग का इस्तीफा अभी तक सोशल मीडिया पर ही वायरल होने का दावा किया जा रहा है, जिससे उस पर विधानसभा अध्यक्ष द्वारा विचार भी नहीं किया गया है। उन्होंने इस मुद्दे पर टिप्पणी से बचने के लिए मीडिया से दूरी भी बना रखी है।

कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और निर्दलीय विधायकों के अचानक एक ही दिन में लापता होने तथा दिल्ली में पहुंचने से शुरू हुए सियासी घमासान पर अभी तक पर्दा है। कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग के गुरुवार को कथित इस्तीफे के वायरल होने के बाद पार्टी में खलबली मच गई थी, लेकिन पार्टी के कुछ नेताओं ने विधायक द्वारा अपनी परेशानियों को लेकर लिखा गया पत्र बताकर उस स्थिति को संभालने का प्रयास किया।

विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति ने भी पहले ही दिन वायरल इस्तीफे पर संदेह जताते हुए कहा था कि जब तक डंग आमने-सामने उन्हें इस्तीफा नहीं सौंपेंगे या भेजे गए पत्र को अपना नहीं बताएंगे, तब तक वे उस पर कुछ नहीं कहेंगे।

बताया जाता है कि हरदीप सिंह डंग के जिस पत्र को इस्तीफा बताया जा रहा है, उसको लेकर कांग्रेस ने कहा कि वह उनके अपने क्षेत्र की समस्याओं से संबंधित पत्र है।

पीसीसी के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने कहा कि इस्तीफा इतना बड़ा नहीं लिखा जाता। इस्तीफा दो लाइन का होता है। विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा तब माना जाता है, जब कोई विधायक विधानसभा अध्यक्ष के सामने देता। विधानसभा अध्यक्ष को डंग ने जो पत्र लिखा है, उसमें समस्याएं बताई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here