श्रमिकों से किराया लेने पर सोनिया ने मोदी सरकार को घेरा, कहा- अब कांग्रेस की इकाईयां उठाएंगी खर्चा

430

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने श्रमिकों की घर वापसी के लिए, उनसे लिए जा रहे किराए पर सवाल उठाते हुए मोदी सरकार को घेरा है. वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इसको लेकर अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है.

 

राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ” एक तरफ रेलवे दूसरे राज्यों में फँसे मजदूरों से टिकट का भाड़ा वसूल रही है वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्रालय पीएम केयर फंड में 151 करोड़ रुपए का चंदा दे रहा है. जरा ये गुत्थी सुलझाइए.”

 

Rahul Gandhi

@RahulGandhi

एक तरफ रेलवे दूसरे राज्यों में फँसे मजदूरों से टिकट का भाड़ा वसूल रही है वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्रालय पीएम केयर फंड में 151 करोड़ रुपए का चंदा दे रहा है।

जरा ये गुत्थी सुलझाइए!

Twitter पर छबि देखें
11.7 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

 

वहीं सोनिया गांधी ने अपने बयान में कहा कि जब विदेशों से भारतीयों को निशुल्क लाया जा सकता है, गुजरात में एक कार्यक्रम में ट्रांसपोर्ट और खाने पीने में 100 करोड़ रुपये खर्च किया जा सकता है, रेल मंत्रालय प्रधानमंत्री के कोरोना फंड में 151 करोड़ रुपये दे सकता है तो फिर श्रमिकों के किराए का खर्चा क्यों नहीं उठा सकता?

 

सोनिया गांधी ने इस मुद्दे को उठाते हुए एलान किया कि अब कांग्रेस कि प्रदेश कांग्रेस कमेटियां हर जरूरतमंद श्रमिक और कामगार के घर लौटने की रेल यात्रा का टिकट खर्च वहन करेगी. साथ ही इस बारे जरूरी कदम उठाएगी.

 

गौरतलब है कि सोनिया गांधी ने ये आरोप भी लगाया कि सिर्फ चार घंटे के नोटिस पर ही लॉकडाउन करने के कारण लाखों श्रमिक व कामगार घर वापस लौटने से वंचित हो गए थे. उन्होंने कहा कि 1947 के बंटवारे के बाद देश ने पहली बार यह दिल दहलाने वाला मंजर देखा था कि हजारों श्रमिकों और कामगारों को सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर घर वापसी के लिए मजबूर होना पड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here