हिमाचल में 3 दिनों से बर्फबारी जारी, शिमला और मनाली न जाने की सलाह

615

नई दिल्ली:हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग क्षेत्रों में पिछले तीन दिनों से लगातार हो रहे बर्फबारी और बारिश ने राज्य में जहां जिंदगी की रफ्तार रोक दी है वहीं राज्य के जनजातीय क्षेत्रों के अलावा ऊपरी शिमला भी शेष विश्व से कट चुका है और मैदानी क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला जारी है. भारी हिमपात के कारण राज्य की 250 सड़कें बाधित हो गयी है और इसके बाद अधिकारियों ने लोगों को शिमला एवं मनाली नहीं जाने की सलाह दी है. फेसबुक पेज पर दिये अपने संदेश में शिमला पुलिस ने कहा कि शहर की तरफ आने वाली सभी सड़कें बाधित हैं.
हिमाचल में ताजा बर्फबारी के बाद कुल 588 सड़कें बंद हो गई हैं, 2436 बिजली आपूर्ति लाइनें बाधित हो गई हैं और राज्य में 33 जल आपूर्ति योजनाएं बाधित हैं. राज्य के 8 जिलों में विभिन्न स्थानों पर 1 फीट से 4 फीट बर्फ जमा हुई है. राज्य के जनजातीय जिले किन्नौर, लाहौल-स्पीति और चंबा जिले के पांगी, भरमौर, डलहौजी में गत तीन दिनों में जमकर हिमपात हुआ है. गत 24 घंटों में खड़ापत्थर, नारकंडा और चैपाल के खिड़की में दो फुट तक हिमपात हो चुका है. वहीं खदराला में 60 सेंटीमीटर, जुब्बल 7.5, ठियोग 12, पूह पांच, केलांग आठ, डलहौजी 35, शिमला 20 और बिजही में 15 सेंटीमीटर हिमपात दर्ज किया गया है. किन्नौर के छितकुल में सबसे अधिक तीन से चार फुट हिमपात दर्ज किया गया. बारिश और बर्फबारी से प्रदेश की राष्ट्रीय मार्गों समेत पांच सौ से अधिक सड़कें बंद हो गई हैं. लाहौल-स्पीति के लिए सड़क पूरी तरह से बंद हैं. नारकंडा, कुफरी, ठियोग सड़क मार्ग बंद होने से रामपुर के लिए बसें वाया बसंतपुर से होकर चलाई गई हैं. लाहौल-स्पीति और किन्नौर में बिजली आपूर्ति पूरी तरह से ठप्प है. किलाड़ में भी गत 12 घंटे से बिजली गुल है.
राज्य में इसी अवधि में नादौन में 49 मिमी, नैनादेवी 44, सुजानपुर टिहरा 37, काहू 31, भावानगर 33, बरठी 29, रामपुर 36, करसोग 34, जोगिंदरनगर 40, नगरोटा सूरियां 25, गंभरोर 18, गुलेर 17 मिमी. बारिश हुई है. मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक अगले 24 घंटों में राज्य के सोलन, शिमला, सिरमौर, बिलासपुर और मंडी जिले के कुछ हिस्से और कुल्लू और किन्नौर में कुछ स्थानों पर फिर से भारी हिमपात हो सकता है. वीरवार और शुक्रवार को दो दिनों तक मौसम साफ रहने का अनुमान है जिससे लोगों को कड़ाके की ठंड से हल्की राहत भी मिल सकती है. बुधवार को भले ही कोई चेतावनी नहीं हैं, लेकिन ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और मैदानों में बारिश होने की सम्भावनाएं बनी हुई हैं. राज्य में अब तक हुई बर्फबारी और बारिश से प्रदेश को लगभग 72 करोड़ 59 लाख 34 हजार रुपये का नुकसान हो चुका है. इसमें सबसे अधिक लोक निर्माण विभाग के शिमला ज़ोन में लगभग 6.59 करोड़ रुपये, मंडी जोन में 6.47 करोड़ रुपये और कांगड़ा ज़ोन में 56.64 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. मौसम विभाग के अनुसार शिमला में न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सैल्सियस, सुंदरनगर 5.7, भुंतर 3.3, कल्पा -2.8, धर्मशाला 0.4, ऊना 9.8, नाहन 7.8, केलांग -5.6, सोलन और पालमपुर 3.0, मनाली -2.2, कांगड़ा 6.6, मंडी 6.8, बिलासपुर 8.0, हमीरपुर 7.8, चम्बा 4.5, डलहौजी -1.4, जुब्बड हट्टी 1.5, पांवटा साहिब 7.०, कुफरी -3.० डिग्री सैल्सियस तापमान दर्ज किया गया है.
शिमला के पुलिस अधीक्षक ओमपति जमवाल ने बताया कि इन सड़कों पर यातायात शुरू होने तक यहां की यात्रा करना उचित नहीं होगा. सड़कों पर बर्फ होने के कारण पर्यटक कई घंटों तक फंसे रहे. इसी प्रकार कुल्लू पुलिस ने भी कहा है कि हिमपात के कारण मनाली के निचले इलाके में सड़कें जाम हैं. कुल्लू के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने बताया कि ‘ग्रीन टैक्स बैरियर के आगे वाहनों को ले जाने की अनुमति नहीं है. पुलिस ने लोगों से आग्रह किया कि अगले निर्देश तक अपने वाहन लेकर मनाली की ओर न आयें.

कार के बोनट पर गिरे भूस्खलन के पत्थर, तीन घायल
उत्तराखंड में टिहरी जिले के नरेंद्रनगर क्षेत्र में बुधवार को ऑल वेदर रोड कटिंग के दौरान भारी भूस्खलन होने से एक कार के बोनट पर पत्थर गिर गया. हादसे में कार सवार तीन व्यक्ति घायल हो गये. ऋषिकेश-चंबा-गंगोत्री हाईवे पर सुबह नौ बजे हुई इस दुर्घटना में दो व्यक्ति सामान्य घायल हुए जबकि वाहन चालक कुलदीप को गंभीर चोटें आयी हैं. घायलों को निकटवर्ती श्रीदेव सुमन संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया है. फिलहाल हाईवे पर यातायात बंद है. जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी बृजेश भट्ट से मिली जानकारी के अनुसार, दुर्घटना के समय कार ऋषिकेश से टिहरी की ओर आ रही थी कि तभी हाईवे पर कुमारखेड़ा के पास भूस्खलन के कारण पत्थर गाड़ी के ऊपर जा गिरे.

बादलवाही व ठंडी हवाओं से राजस्थान फिर सर्द

बादल छाने, बूंदाबांदी व ठंडी हवाएं चलने के कारण राजस्थान के अनेक इलाकों में बुधवार को एक बार फिर सर्दी ने जोर पकड़ लिया. मौसम विभाग के सूत्रों ने बताया कि राज्य के कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई है और ठंडी हवाएं चल रही हैं. बीते चौबीस घंटों में सवाई माधोपुर में 2.0 मिलीमीटर, गंगानगर में 0.7 मिलीमीटर व पिलानी में 0.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी है. जहां तक रात के न्यूनतम तापमान का सवाल है तो जैसलमेर में यह 7.3 डिग्री सेल्सियस, गंगानगर में 7.9 डिग्री सेल्सियस और एरनपुरा रोड में 9.4 डिग्री सेल्सियस रहा. बाकी इलाकों में हालांकि न्यूनतम तापमान दस डिग्री से ऊपर रहा.

पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में बारिश
पंजाब और हरियाणा के विभिन्न हिस्सों में बुधवार को बारिश हुई जबकि क्षेत्र के ज्यादातर स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया. दोनों ही राज्यों के कई स्थानों पर पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि पंजाब, अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में क्रमश: न्यूनतम तापमान 7, 10.1 और 11.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पठानकोट, आदमपुर, हलवाड़ा, बठिंडा, फरीदकोट और गुरदासपुर में न्यूनतम तापमान 9.4, 10.1, 10.2, 9.3, 8.8 और 8.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. वहीं अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, पठानकोट, आदमपुर, हलवाड़ा, बठिंडा, फरीदकोट और गुरदासपुर में बारिश क्रमश: 4.2, 1.7, 8, 65, 12, एक, चार, 0.6 और 26.5 मिमी दर्ज की गई.

हरियाणा, अंबाला, हिसार और करनाल में न्यूनतम तापमान क्रमश: 9.8, 11.2, 11.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया जो कि सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक है. नारनौल, रोहतक, भिवानी और सिरसा में न्यूनतम तापमान क्रमश: 11, 10.8, 8.2 और 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अंबाला, हिसार, करनाल, रोहतक और सिरसा में क्रमश: 12 मिमी, 0.6 मिमी, 11.4 मिमी और 1.9 मिमी और तीन मिमी बारिश दर्ज की गई. दोनों ही राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान क्रमश: 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक है. शहर में 22.9 मिमी बारिश दर्ज की गई.

दिल्ली में बारिश, कई स्थानों पर ट्रैफिक जाम की स्थिति
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कई हिस्सों में बुधवार सुबह बारिश हुई. बारिश के बाद तापमान गिर गया और कई स्थानों पर ट्रैफिक धीमी गति से चलने लगा. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया, “न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक है. आर्द्रता स्तर 100 फीसदी तक दर्ज किया गया. सफदरजंग वेधशाला ने छह मिलीमीटर बारिश दर्ज की. इसके अलावा पालम में 5.3 मिमी और रिज क्षेत्र में 6.8 मिमी बारिश दर्ज हुई. लोधी और आया नगर वेधशालाओं में क्रमश: 10 मिमी और 5.6 मिमी बारिश दर्ज हुई.

मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि बारिश का सिलसिला पूरे दिन जारी रहेगा. वहीं दूरदराज के इलाकों में ओलावृष्टि का अनुमान है. उन्होंने बताया कि अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 16 डिग्री सेल्सियस और आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. रेलवे अधिकारी ने बताया कि खराब मौसम की वजह से उत्तरी रेलवे की 16 रेलगाड़ियां देरी से चल रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here