टिक टोक वीडियो की वजह बनी रायगढ़ के लड़कियों के मौत का कारण

874

कुछ दिन साथ रहने के बाद घरवालों की दबाव से वापस लौटी, रायपुर में सरकारी नौकरी लग गई थी, लेकिन इससे पहले सैफ ने दोस्त मुस्तफा और एक अन्य के साथ मिलकर मंजू और मनीषा को मार डाला

रायगढ़। रायपुर के टिकरापारा क्षेत्र में हुए सनसनीखेज हत्याकांड में मुख्य आरोपी सैफ और मुस्तफा को रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मध्यप्रदेश में छिपे हुए थे। अब तक जो बातें सामने आ रही हैं उसके अनुसार पुलिस के समक्ष आरोपियों ने अपराध कबूल कर लिया है। इधर रायगढ़ में सिदार समाज की ओर से कलेक्टर से आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने की मांग की तैयारी चल रही है। बताते चलें कि मंजू की रायपुर के अस्पताल में सरकारी नौकरी लग गई थी। ज्वाइनिंग लेटर मिल चुका था। लेकिन इससे पहले ही उसकी मौत हो गई। हादसे में उसकी बहन मनीषा की  मौत हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी सैफ खान और मंजू के बीच प्रेम प्रसंग लंबे अर्से से चल रहा था। दोनों की दोस्ती फेसबुक में हुई। और यहीं से उनका प्यार परवान चढ़ा। नौबत यहां तक आ गई कि मंजू और सैफ ने कोर्ट में जाकर शादी कर ली। दोनों के परिवार के लोगों को इस बात की भनक नहीं लगी। शादी के बाद मंजू ने अचानक अपने परिवार में यह बात बतलाई तो परिवार के लोगों ने इसका पुरजोर विरोध किया। उससे अलग होने के लिए दबाव डाला गया। आखिर में मंजू अपने परिजनों की बात मानकर सैफ से अलग हो गई। इसके कुछ दिन बाद मंजू की मां और पिताजी मंजू को लेकर थाने चले गए। चक्रधर नगर थाने में मंजू से यह बयान दिलाया गया कि सैफ ने जबर्दस्ती मंजू से शादी कर ली है। पुलिस ने इस मामले में सिफ मंजू के परिवार वालों की बात मानी और वे जैसा कहे उसे सच मानकर सैफ को थाने में बुलाया गया।

पुलिस ने फाड़ दिया मैरिज सर्टिफिकेट
सैफ और मंजू के पास शादी का एकमात्र सबूत मैरिज सर्टिफिकेट रह गया था। इधर परिजनों की दबाव में आने के बाद मंजू सैफ के खिलाफ थाने में गवाही देने चली गई थी। तब सैफ के पास कोई रास्ता नहीं बचा। पुलिस ने जब उसे बुलाया तो उसने मंजू से शादी होने की बात कही। लेकिन पुलिस इस बात को मानने से इंकार करती रही। आखिर में सैफ ने सबूत के तौर पर मैरिज सर्टिफिकेट दिखलाई। लेकिन पुलिस ने उसके सामने ही मैरिज सर्टिफिकेट को फाड़ दिया और उसे मंजू की लाइफ से चले जाने को कहा।

बीच-बचाव कर रही थी मनीषा

आरोपियों ने मनीषा को भी मार दिया। दरअसल सैफ को इस बात का पता चला कि मंजू रायपुर में रहने वाली अपनी छोटी बहन मनीषा के यहां गई हुई है। उसने तत्काल ठान लिया कि वो उसे लेने जाएगा। चूंकि रायगढ़ में जहां वो रहती थी। वहां बंदिशें लगी थी। मंजू अपने घर से निकल नही पाती थी। रायपुर में रहने की खबर मिलते ही सैफ अपने दोस्तों के साथ रायपुर चला गया। वहां उसने मंजू को अपने साथ चलने के लिए मनाने लगा। लेकिन मंजू नहीं मानी तो उसने तैश में आकर तवा से उसपर हमला कर दिया। इस बीच जब मनीषा बीच-बचाव करने लगी तो उसके उपर भी हमला कर दिया गया। हादसे में दोनों बहनों की मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here