एमपी में बिजली के दाम 17 पैसे प्रति यूनिट कम करने की तैयारी, मिलेगी राहत

250

जबलपुर. मध्य प्रदेश में बिजली के दाम नववर्ष जनवरी से कुछ कम होने की उम्मीद है. हर तिमाही में तय होने वाला फ्यूल कास्ट एडजस्टमेंट बिजली कंपनी घटाने जा रही है. घरेलू उपभोक्ता से अभी 30 पैसे प्रति यूनिट एफसीए वसूला जाता है, जो कंपनी अब 13 पैसे प्रति यूनिट करना चाह रही है. यानी 17 पैसे प्रति यूनिट की बचत होगी. ज्यादा खपत करने वाले उपभोक्ताओं को काफी राहत मिलेगी.
मध्य प्रदेश पावर मैनेजमेंट कंपनी की ओर से दिसंबर में एफसीए को लेकर प्रस्ताव बनाया गया है.

थर्मल पावर प्लांट में बिजली बनाने के लिए कोयला और तेल पर होने वाले खर्च के आधार पर तीन माह का एफसीए तय होता है. कभी ये बढ़ता है तो कभी कम हो जाता है. अभी तक 30 पैसे प्रति यूनिट ये वसूला जा रहा था. इस बार कंपनी के आंकलन में 13 पैसे प्रति यूनिट एफसीए तय हुआ है.

जनवरी के बिल में मिलेगा लाभ

जनवरी के बिल में नया एफसीए लागू होगा. अभी पावर मैनेजमेंट कंपनी के प्रस्ताव पर मध्य प्रदेश विद्युत नियामक आयोग की मंजूरी मिलनी बाकी है. आयोग की सहमति के बाद ही नई दरें प्रभावी होंगी.

ऐसे समझें फायदा

300 यूनिट बिजली की खपत वाले उपभोक्ताओं को अभी करीब 90 रुपए एफसीए पर खर्च करना होता था. ये 30 पैसे प्रति यूनिट के दर से वसूला गया. अब यदि 13 पैसे प्रति यूनिट एफसीए लागू हुआ तो 300 यूनिट खपत पर 39 रुपए ही देय होगा. करीब 51 रुपए की बचत होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here