चोलनार ब्लास्ट में शामिल जनमिलिशिया कमांडर ने किया सरेंडर, एक लाख का इनामी है समर्पित नक्सली

270

दंतेवाड़ा। नक्सल विरोधी अभियान में पुलिस को आज एक और सफलता मिली है. मलांगिर एरिया कमेटी में सक्रिय 1 लाख के ईनामी जनमिलिशिया कमांडर हड़मा ने आज पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव के समक्ष आत्म समर्पण किया. आत्म समर्पित नक्सली चोलनार ब्लास्ट तथा रविवार को किरन्दुल एनएमडीसी परियोजना के एसपी 3 में 9 वाहनों की आगजनी की घटना सहित कई वारदातों में शामिल था। बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने बताया गया कि आत्मसमर्पित नक्सली हड़मा वर्ष 2007 से संघम सदस्य के रूप में भर्ती हुआ. 2 वर्ष बाद इसे गुमियापाल क्षेत्र जनमिलिशिया सदस्य के रूप में पदोन्नत किया गया तथा 1 वर्ष बाद जनमिलिशिया कमांडर के रूप में पदोन्नत किया गया. नक्सली संगठन में रहकर कार्य करने के दौरान शादी करने से इसे नक्सली कमांडर विनोद ने गांव में रहकर बाल संघम सदस्यों को भर्ती करने, बड़े नक्सली लीडर आने पर ग्रामीणों को एकत्रित करने, भोजन की व्यवस्था करना, रोड खोदना, पुलिस की रेकी तथा गांव में नक्सली विचारधारा का प्रचार-प्रसार करना था।

आत्मसमर्पित नक्सली 13 मई 2012 को एनएमडीसी परियोजना किरन्दुल से पेट्रोलिंग ड्यूटी में जा रहे सीआईएसएफ बल के 6 जवान, ड्राइवर पर अंधाधुंध फायरिंग कर हत्याकर हथियार लूटने की घटना में शामिल था. 13 अपै्रल 2015 को चोलनार कैंप से किरन्दुल आ रहे पुलिस के एण्डी लैण्ड माईन वाहन को विस्फोट कर फायरिंग की घटना में शामिल था, जिसमें 5 जवान शहीद तथा 7 जवान घायल हुए थे. इसके साथ ही 19 जून 2017 को चोलनार सरपंचपारा में छन्नू मंडावी का मुखबिरी के आरोप में हत्या, 20 मई 2018 में चोलनार रोड पर विस्फोट, जिसमें 6 पुलिस जवान शहीद एवं 1 घायल हो गया. बचेली एनएमडीसी परियोजना के माईनिंग क्षेत्र में ट्रकों में आगजनी, 2019 में एस्सार कपंनी में लगे 4 वाहनों में आगजनी में शामिल था। आत्मसमर्पित नक्सली को प्रोत्साहन स्वरूप 10 हजार रूपए की राशि प्रदान की गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here