पाकिस्तान को उपदेश देने के बजाए अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए काम करना चाहिए

284

नयी दिल्ली. पाकिस्तान के पेशावर में अल्पसंख्यक सिख युवक की हत्या किए जाने की भारत ने कड़ी निंदा की है. घटना पर भारत ने पाकिस्तान से झूठ बोलना बंद करने और इस जघन्य कृत्य के दोषियों को दंडित करने के लिए फौरन कार्रवाई करने की अपील की. विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान को अन्य देशों को उपदेश देने के बजाए अपने देश में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा करने के लिए काम करना चाहिए.

बता दें कि रविवार को पाकिस्तान के पेशावर में 25 साल के सिख युवक की अज्ञात व्यक्तियों ने हत्या कर दी. युवक का शव चमकानी पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले इलाके से बरामद हुआ है. पेशावर ऑपरेशन एसएसपी ने कहा कि युवक की पहचान रविंद्र सिंह के रूप में हुई है. एसएसपी ने कहा है कि पुलिस घटना की जांच में जुटी हुई है.

सिख युवक की हत्या से 48 घंटे पहले ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ द्वारा पथराव करने का मामला सामने आया था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रदर्शन का नेतृत्व मोहम्मद हसन के परिवार ने किया है, जिसने कथित तौर पर ननकाना शहर की रहने वाली सिख लड़की का अपहरण किया था और उसका धर्मांतरण करा उससे निकाह कर लिया. ननकाना साहिब गुरुद्वारे के ग्रंथी ने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी का कुछ लोगों ने पहले बंदूक की नोक पर अगवा किया और फिर उसका जबरन निकाह कराया गया.

भारत ने पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारे में तोड़फोड़ की शुक्रवार को कड़ी निन्दा की और पड़ोसी देश से वहां सिखों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा था, भारत इस पवित्र स्थान पर तोड़फोड़ और बेअदबी की हरकतों की कड़ी निंदा करता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here