‘मेक इन इंडिया’ मिशन में सहयोग देगी ओप्पो, 2020 के अंत तक 10 करोड़ स्मार्टफोन के विनिर्माण का लक्ष्य

425

नयी दिल्ली/शंघाई। चीन की प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी ओप्पो भारतीय बाजार में युवा आबादी के बूते उपलब्ध अवसरों का दोहन करने की तैयारी में है। कंपनी का इरादा स्टार्टअप्स को सहयोग के जरिए सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ मिशन में समर्थन की रणनीतियां बनाने और भारत केंद्रित नवप्रवर्तन लाने का है। ‘मेक इन इंडिया’ मिशन के तहत ओप्पो का इरादा 2020 के अंत तक स्थानीय स्तर पर 10 करोड़ स्मार्टफोन के विनिर्माण का है। साथ ही कंपनी विश्वस्तरीय प्रौद्योगिकी उत्पाद लाना चाहती है ताकि भारतीय उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा किया जा सके।

भारत में प्रौद्योगिकी में तेजी से आ रहे बदलाव के मद्देनजर ओप्पो यहां अगली पीढ़ी के नवप्रवर्तन मसलन 5जी और इंटरनेट आफ थिंग्स (आईओटी) पर ध्यान दे रही है। ओप्पो इंडिया के उपाध्यक्ष (शोध एवं विकास) तस्लीम आरिफ ने कहा, ‘जहां तक 5जी का सवाल है तो भारत एक उल्लेखनीय बाजार है। देश की नयी राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति (एनडीसीपी) में उद्योग और देश के लिए एक सकारात्मक दृष्टिकोण दिया गया है। इसमें अगली पीढ़ी की डिजिटल सेवाओं को समर्थन के लिए डिजिटल ढांचे के सृजन का प्रस्ताव है।’

उन्होंने बताया कि ओप्पो में उसके हैदराबाद के शोध एवं विकास केंद्र में 5जी नेटवर्क के लिए काम पहले ही शुरू हो चुका है। जैसे की पारिस्थितिकी तंत्र तैयार होगा, कंपनी 5जी प्रौद्योगिकी अनुकूल स्मार्टफोन लेकर आएगी। ओप्पो इंडिया के उपाध्यक्ष (उत्पाद एवं विपणन) सुमीत वालिया ने कहा, ‘देश में 50 करोड़ उपभोक्ता ऐसे हैं जो फीचर फोन का इस्तेमाल करते हैं। इन लोगों के लिए स्मार्टफोन की ओर आने की संभावना है। 4जी पहुंच और सस्ते उपकरणों तथा सस्ते डेटा की वजह से यह उद्योग लगातार आगे बढ़ेगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here