जनरल बिपिन रावत के सीडीएस बनने से भारत-अमेरिका रक्षा सहयोग बढ़ेगा: वेल्स

240

वाशिंगटन: अमेरिका ने भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ नियुक्त होने पर जनरल बिपिन रावत को बधाई देते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के बीच वृहद रक्षा सहयोग को ‘बढ़ाने’ में मदद मिलेगी.

जनरल रावत को सोमवार को भारत का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) नियुक्त किया गया. सीडीएस का काम सेना, नौसेना और वायुसेना के कामकाज में बेहतर तालमेल लाना और देश की सैन्य ताकत को और मजबूत करना होगा.

नव सृजित इस पद पर उनकी नियुक्ति ऐसे समय में हुई है जब एक दिन बाद वह सेना प्रमुख के तौर पर तीन साल के कार्यकाल से सेवानिवृत्त हो गए.

दक्षिण एवं मध्य एशिया की कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री एलिस जी वेल्स ने सोमवार को ट्वीट कर जनरल बिपिन रावत को भारत का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ नियुक्त होने पर बधाई दी.

वेल्स ने कहा, ‘इस पद से हमारी सेनाओं के बीच वृहद भारत-अमेरिका ‘संयुक्त’ सहयोग बढ़ाने में मदद मिलेगी जैसा कि हाल ही में हुई टू प्लस टू वार्ता में चर्चा की गई थी.’

दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग पिछले डेढ़ दशक में तेजी से बढ़ा है.

हालांकि, दोनों देशों के बीच उच्चस्तरीय वार्ता निरंतर नहीं हो रही थी क्योंकि ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के चेयरमैन के बराबर पद न होने से प्रोटोकॉल का अभाव था. अमेरिका में यह पद जनरल मार्क ए मिले के पास है.

जनरल रावत के सीडीएस नियुक्त होने से भारत और अमेरिका के शीर्ष सैन्य नेतृत्व के बीच संवाद बढ़ने की उम्मीद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here