आईसीसी : 4 दिनों का हो सकता है टेस्ट मैच

482

दुबई.अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद आईसीसी वैश्विक क्रिकेट कैलेंडर के व्यस्त कार्यक्रम को कुछ सहज बनाने के इरादे से अब टेस्ट मैच के दिनों को घटाकर पांच के बजाय चार दिन करने पर विचार कर रहा है, जो संभवत: वर्ष 2023 से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा बन सकता है. आईसीसी की क्रिकेट समिति वर्ष 2020 में इस मुद्दे पर विचार कर सकती है, और सदस्य क्रिकेट बोर्ड से विचार-विमर्श करने के बाद इस बड़े बदलाव को अमल में लाया जा सकता है. विश्व क्रिकेट के इस बदलाव के खिलाफ खड़े होने की उम्मीद है जो क्रिकेट के सबसे पुराने और महत्वपूर्ण प्रारूप में इतने बड़े बदलाव को मंजूरी नहीं देना चाहेगा. यह भी अहम है कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में चार दिनों के मैच और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले जाने वाले आधिकारिक टेस्ट प्रारूप में पांच दिनों का मैच ही सबसे बड़ा अंतर भी है, जो नए बदलाव से खत्म हो जाएगा. आईसीसी से लगातार अपने टूर्नामेंटों के विंडो को बढ़ाए जाने की मांग उठ रही है. लगातार घरेलू ट्वंटी 20 क्रिकेट लीगों की बढ़ती संख्या, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई के अपने निजी द्विपक्षीय कैलेंडर को जगह देने तथा टेस्ट सीरीज आयोजित करने की कीमत, हालांकि कुछ ऐसे बिंदू हैं जिन्हें ध्यान में रखते हुए टेस्ट में इस बदलाव की मांग भी उठ रही है, जो 2023 से 2031 के कैलेंडर में समय और पैसे के खर्च को कम कर सकता है. पांच के बजाय चार दिनों के अनिवार्य टेस्ट मैच की स्थिति में 2015 से 2023 के मौजूदा चक्र में करीब 335 दिनों की बचत होगी, जिससे समय की बचत होगी और गुरूवार से रविवार के समयावधि में मैच कराए जा सकेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here