मैंने ईश्वर तो नहीं देखा पर आपको देखा, महिला की बात सुन भावुक हुए PM मोदी

209

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे जनऔषधि दिवस पर देशवासियों को बधाई दी और इस दौरान उन्होंने इसका लाभ पाने वाले लोगों से बातचीत भी की। इस दौरान एक महिला से बातचीत के दौरान पीएम मोदी भावुक हो गए। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करते हुए कहा कि देशभर में लगभग 6,000 जन औषधि केंद्रों ने दो हजार से ढाई हजार करोड़ रुपये की बचत करने में लोगों की मदद की है। उन्होंने कहा कि मैं देशवासियों से कोरोना वायरस से जुड़ी अफवाहों से दूर रहने की अपील करता हूं। इस संबंध में चिकित्सकों की सलाह मानने की जरूरत। हाथ मिलाने से बचें और एक बार फिर ‘नमस्ते से लोगों का अभिवादन करना शुरू करें।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं राज्य सरकारों से अपील करता हूं कि वे अपने चिकित्सकों से जेनेरिक दवाएं लिखने को कहें और प्रत्येक माह, एक करोड़ से अधिक परिवार जन औषधि केंद्रों से दवाएं ले रहे हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि योजना का लाभ पाने वाले दीपा शाह ने पीएम मोदी से बात करते हुए रोने लगी। दीपा शाह ने कहा कि 2011 में मुझे पैरालाइज हुआ था और मैं बोल नहीं पाती थी। जब मेरा इलाज चलता था तो मेरी दवाइयां बहुत महंगी आती थी। फिर आपकी जनऔषधि दवाई मिली और उन्हें खाना शुरू किया।

दीपा ने बताया कि पहले मेरी दवाइयां पांच हजार की आती थी अब जनऔषधि केन्द्र से दवाइयां डेढ़ हजार में आने लगी। इससे तीन हजार रुपये बचने लगे तो मैं उससे फल-फ्रूट खाती हूं। उन्होंने कहा कि मैंने ईश्वर को तो नहीं देखा लेकिन आपको ईश्वर के रूप में देखा है। आपको बहुत-बहुत धन्यवाद। इसके बाद वह महिला रोने लगी। दीपा शाह ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री और हमारे लोगों ने बहुत मदद की है।

उन्होंने कहा कि मुझे डॉक्टरों ने जवाब दे दिया था कि मैं ठीक नहीं होउंगी पर आपकी वाणी और आशीर्वाद से ठीक हो गई। मैं फिर कहती हूं कि मैंने ईश्वर को नहीं देखा लेकिन आपको ईश्वर के मूल रूप में देखा है और अब मैं थोड़ा-थोड़ा बोलने भी लग गई हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here