मुझे यकीन है कि भारतीय तीरंदाज टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतेंगे : आकाश

648

साल 2018 में आयोजित यूथ ओलंपिक्स में भारत के लिए तीरंदाजी में रजत पदक जीतकर इतिहास रचने वाले युवा तीरंदाज आकाश मलिक को यकीन है कि टोक्यो ओलंपिक-2020 में भारतीय तीरंदाज जरूर पदक जीतेंगे। मलिक ने कहा कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स का तीसरा संस्करण ओलंपिक ट्रायल्स के लिहाज से भारतीय टीम के लिए काफी उपयोगी साबित होगा। खेलो इंडिया यूथ गेम्स का आयोजन 10 से 22 जनवरी तक गुवाहाटी में होना है।

मलिक ने कहा, “मुझे यकीन है कि भारतीय तीरंदाज टोक्यो में पदक जीतेंगे। टीम के लिए खिलाड़ियों का चयन ट्रायल्स के जरिए होना है, जो कि 2020 की शुरुआत मे होंगे। ऐसे में खेलो इंडिया यूथ गेम्स का तीसरा संस्करण ट्रायल्स के लिए इन खिलाड़ियों को तैयार करने में मददगार होगा।”

हरियाणा के हिसार के निवासी मलिक ने एशिया कप स्टेज-1 में मेन्स टीम इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा वह एशिया कप स्टेज-11 (2018) में मिक्स्ड टीम इवेंट में रजत और मेंस टीम इवेंट में कांस्य पदक जीत चुके हैं।

मलिक ने कहा कि 2018 में खेलो इंडिया यूथ गेम्स के पहले संस्करण में उन्होंने हिस्सा लिया था और उनका अनुभव शानदार रहा था।

मलिक ने कहा, “मैंने खेलो इंडिया यूथ गेम्स के पहले संस्करण में कांस्य पदक जीता था। मैंने उस टूर्नामेंट में खूब लुत्फ लिया था। यह युवाओं के लिए शानदार प्लेटफॉर्म है। खेलो इंडिया के माहौल में खेलने से खिलाड़ियों में आत्मबल आता है।”

17 साल के मलिक के पिता किसान हैं। मलिक को तीरंदाजी में रुचि अपने दोस्तों को 2016 में अभ्यास करते हुए देखने के बाद जगी थी। मलिका ने कहा, “मैंने 2016 में तीरंदाजी अपनाया था। मैंने अपने दोस्तों को हिसार में अभ्यास करते देखा था और धीरे-धीरे मेरा इस खेल में इंटरेस्ट बढ़ने लगा।”

अपने करियर के शुरुआती दौर में मलिक को इस खेल से जुड़े महंगे उपकरण हासिल करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। ओलंपिक गोल्ड क्वेस्ट ने हालांकि 2017 में मलिक को अपने साथ जोड़ा और उन्हें इक्वीपमेंट मुहैया कराए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here