जीएसटी कलेक्शन तीन महीने पर नवंबर में फिर एक लाख करोड़ से ज्यादा

269

सरकार को गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) से नवंबर महीने में तीन महीने बाद एक लाख करोड़ रु. से ज्यादा प्राप्त हुआ। वित्त मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले महीने नवंबर में जीएसटी कलेक्शन 1,03,492 करोड़ रु. पर पहुंच गया। यह नवंबर 2018 से 6 फीसदी ज्यादा है जब कलेक्शन 97,637 करोड़ रुपये रहा था।

राजस्व छह फीसदी बढ़ा

अक्टूबर में राजस्व संग्रह 95,380 करोड़ रुपये रहा जबकि जुलाई में यह कलेक्शन 1,02,083 करोड़ रुपये था। दो महीने राजस्व संग्रह में गिरावट के बाद नवंबर में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 6 फीसदी की बढ़ोतरी रही।

अधिकारियों ने कहा- खपत और अनुपालन सुधरा

अधिकारियों का कहना है कि जीएसटी कलेक्शन से संकेत मिले हैं कि देश में खपत और टैक्स कंप्लायंस सुधर रहा है। नवंबर के दौरान घरेलू कारोबार पर जीएसटी संग्रह में 12 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।

नवंबर में 77 लाख जीएसटी रिटर्न भरे गए

103,492 करोड़ रुपये में से सीजीएसटी 19,592 करोड़, एसजीएसटी 27,144 करोड़, आइजीएसटी 49,028 करोड़ (आयात पर मिले 20,948 करोड़ मिलाकर) और सेस 7,727 करोड़ रुपये रहा। 30 नवंबर तक 77.83 लाख जीएसटीआर-3बी फॉर्म भरे गए।

आठवीं बार जीएसटी एक लाख करोड़ से ज्यादा

सरकारी बयान के अनुसार नवंबर में जीएसटी संग्रह तीन महीने में सबसे ज्यादा रहा। अप्रैल 2019 और मार्च 2019 में ही संग्रह इससे ज्यादा रहा था। जुलाई 2917 के बाद से आठवीं बार संग्रह एक लाख करोड़ रुपये के ऊपर रहा।

सरकारों को मिला इतना पैसा

आयात पर जीएसटी संग्रह में गिरावट का रुख जारी रहा। नवंबर में यह 13 फीसदी गिरा जबकि अक्टूबर के मुकाबले गिरावट कम रही। अक्टूबर मंे गिरावट 20 फीसदी थी। केंद्र और राज्य सरकारों को नियमित सेटलमेंट के बाद नवंबर में सीजीएसटी से 44,742 करोड़ और एसजीएसटी से 44,576 करोड़ रुपये मिले। सरकार ने सीजीएसटी में 25,150 करोड़ और एसजीएसटी में 17,431 करोड़ रुपये का निपटान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here