जर्मन पुलिस प्रमुख ने कहा, विदेशियों को डिपोर्ट करने में आ रही हैं परेशानियां

193

जर्मनी में अवैध तरीके से घुसने वाले लोगों को निकालने में जर्मन पुलिस को परेशानी हो रही है. इसका कारण देश में डिंटेंशन सेंटर और डिपोर्टेशन सेंटर की कमी होना भी है. इससे पुलिस का काम भी बढ़ गया है.जर्मनी के संघीय पुलिस प्रमुख डीटर रोमान ने कहा कि देश से ऐसे लोगों को डिपोर्ट करने में परेशानियां आ रही हैं जिन्होंने यहां शरण मांगी थी लेकिन उनके आवेदन खारिज हो गए. इसके लिए उन्होंने प्री डिपोर्ट सुविधाओं की कमी को जिम्मेदार बताया. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि देश में हिरासत केंद्रों की कमी है जिसके चलते इस प्रक्रिया को अंजाम नहीं दिया जा रहा है. रोमान ने बताया कि जर्मनी से करीब 2,48,000 विदेशियों को डिपोर्ट किया जाना है लेकिन यहां सिर्फ 577 डिपोर्टेशन सेंटर हैं जहां इन लोगों को रखकर डिपोर्ट करने की आगे की कार्रवाई की जाती है. इसलिए इन लोगों को डिपोर्ट करने में परेशानी हो रही है. इन लोगों में से 1,19,000 लोगों को स्थानीय अधिकारियों ने फिलहाल देश में रहने की अनुमति दी है क्योंकि उन्हें ऐसे कारण मिले हैं जिसके चलते इन्हें फिलहाल देश से बाहर नहीं निकाला जा सकता है. साल 2019 में जनवरी से अक्टूबर के बीच अधिकारियों ने डिपोर्ट किए जाने के 20,996 मामले दर्ज किए. ये इसी अवधि में पिछले साल दर्ज हुए मामलों से 1000 कम है.

जर्मनी में डिपोर्ट करने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की होती है. लेकिन जर्मनी की केंद्रीय पुलिस उन हवाई जहाजों के साथ जाती है जिनमें डिपोर्ट किए गए लोग ले जाए जाते हैं. दिसंबर के महीने में ही केंद्रीय पुलिस ने बताया कि पिछले चार साल में डिपोर्ट किए लोगों को ले जाने वाली फ्लाइट्स में जाने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या दो गुनी हो गई है. इसका असर पुलिस की नियमित गतिविधियों पर भी हो रहा है.

डिपोर्ट किए गए लोगों की संख्या में कमी का कराण ये भी है कि इस साल पिछली साल की तुलना में कम लोग अवैध तरीके से जर्मनी में आए. इस साल करीब 32,945 लोग जर्मनी में अवैध तरीके से घुसे. 2018 में यह संख्या 38,580 थी. यूरोपीय संघ के सदस्य देशों में शरण मांगने वाले लोगों के लिए जर्मनी आज भी पहली पसंद बना हुआ है.

2018 में जर्मनी में पहली बार शरण मांगने वाले लोगों की संख्या करीब 1,50,000 थी. जर्मनी को अन्य यूरोपीय देशों की तुलना में उदार माना जाता है. इसलिए ज्यादा शरणार्थी जर्मनी में शरण मांगते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here