जीत के साथ चेन्नइयन का सफर जारी, हैदराबाद की उम्मीदें खत्म

224

दो बार की चैम्पियन चेन्नइयन एफसी ने शुक्रवार को हैदराबाद एफसी पर मिली 3-1 की जीत के साथ खुद को हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन में प्लेऑफ की दौड़ में बनाए रखा है। इस हार के बाद हालांकि हैदराबाद का प्लेऑफ में जाना सम्भव नहीं है। लगातार दो हार के बाद जीएमसी बालायोगी स्टेडियम में मिली इस जीत ने चेन्नइयन एफसी को 12 अंकों के साथ तालिका में सातवें स्थान पर पहुंचा दिया है। यह उसका 11वां मैच था। उसके खाते में तीसरी जीत आई है। दूसरी ओर, 12 मैचों में निजाम्स नाम से मशहूर मेजबान टीम को नौवीं हार का सामना करना पड़ा है और वह पांच अंकों के साथ अब भी अंतिम स्थान पर है।

इस मैच में चेन्नइयन के लिए रफाएल क्रिवेलारो ने 40वें तथा नेरीजुस वाल्सकिस ने 43वें तथा 65वें मिनट में गोल किए। निजाम्स के लिए एकमात्र गोल मार्सेलिन्हो लीते परेरा ने 88वे मिनट में किया।

पहला हाफ पूरी तरह चेन्नइयन एफसी के नाम रहा। उसने 2-0 की बढ़त के साथ इस हाफ की समाप्ति की। उसके लिए मैच का पहला गोल 40वें मिनट में रफाएल क्रिवेलारो ने किया जबकि दूसरा गोल नेरीजुस वाल्सकिस ने 43वें मिनट में किया। पहले गोल में जहां वाल्सकिस का एसिस्ट रहा वहीं दूसरे गोल में आंद्रे शेम्ब्री ने वाल्सकिस को गोल करने में मदद की।

मेहमान टीम ने पांचवें मिनट में ही एक जोरदार हमले के साथ इस हाफ की कहानी लिख दी थी। हैदराबाद के गोलकीपर कमलजीत सिंह ने न सिर्फ इस हमले को बेकार किए बल्कि इसके बाद भी कई मौकों पर चेन्नयन को गोल करने से रोकते रहे।

40वें मिनट में हालांकि आशीष राय की एक गलती मेजबान टीम को भारी पड़ गई। आशीष ने गेंद को गोलकीपर को पास करने की कोशिश की थी लेकिन वाल्सकिस ने इंटरसेप्ट करते हुए गेंद को अपने कब्जे में ले लिया। वह गोलकीप से वन-ऑन-वन थे लेकिन खुद को गोल करने की स्थिति में नहीं देखकर वाल्सकिस ने गेंद क्रिवेलारो को पास कर दिया। क्रिवेलारो ने छोड़ी परेशानी के बावजूद चेन्नई को बढ़त दिलाने में सफलता हासिल की।

मेजबान टीम ने अभी पहला गोल खाने के बाद दम भी नहीं लिया था कि चेन्नइयन ने 43वें मिनट में दूसरा गोल करते हुए अपनी बढ़त दोगुनी कर दी। इस बार गोल करने का मौका वाल्सकिस को मिला। इस गोल में क्रिवेलारो की भी भूमिका रही क्योंकि रफाएल ने भी इस गोल को एसिस्ट करने वाले शेम्ब्री को को पास दिया था। शेम्ब्री ने गेंद वाल्सकिस को थमा दी और वाल्सकिस ने रॉकेट की फुर्ती से गेंद को पोस्ट के टॉप राइट कार्नर में घुसा दिया।

हैदराबाद की टीम पहले हाफ की गलतियों से सबक नहीं ले सकी और दूसरे हाफ के 65वें मिनट में एक बार फिर गलती कर बैठी और वाल्सकिस ने गोल करते हुए स्कर 3-0 कर दिया। इस गोल में क्रिवेलारो की भी भूमिका रही। तोहफे के तौर पर मिली गेंद को वाल्सकिस ने क्रिवेलारो को पास किया और फिर क्रिवेलारो ने उसे वाल्सकिस को दे किया। वाल्सकिस ने बिना कोई गलती किए गेंद को पोस्ट में डाल दिया।

मार्सेलिन्हो ने 88वें मिनट में हैदराबाद के लिए सांत्वना देने वाला गोल जरूर किया लेकिन इससे किसी फैन को शायद खुशी नहीं हुई क्योंकि अब तक घ्र में अच्छा खेलने वाली उनकी टीम इस बार घर में ही खराब खेलकर टूर्नामेंट से बाहर जाने को मजबूर हुई। निजाम्स के लिए हुए इस एकमात्र गोल में माको स्टैनकोविक का एसिस्ट रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here