CAA का धर्म से संबंध नहीं तो इसमें मुस्लिम क्यों नहीं? भाजपा नेता ने उठाए सवाल

528

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (BJP) की पश्चिम बंगाल इकाई के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्र कुमार बोस ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) में पारदर्शिता की मांग करते हुए कहा कि अगर इस कानून का संबंध धर्म से नहीं है तो इसमें मुस्लिमों को भी शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, “अगर सीएए का धर्म से लेना-देना नहीं है तो हम सिर्फ हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई, पारसी और जैन की बात क्यों कर रहे हैं? मुस्लिमों को भी शामिल क्यों नहीं किया गया? पारदर्शिता लाओ।

मुस्लिम देशों में मुस्लिम समुदायों को नहीं सताए जाने के भाजपा के रुख पर उन्होंने कहा, “..तो वे नहीं आएंगे, इसलिए उन्हें शामिल करने में कोई नुकसान नहीं है।” उन्होंने हालांकि कहा, “यह पूरी तरह सच नहीं है। पाकिस्तान और अफगानिस्तान में रह रहे बलूच लोगों के बारे में क्या विचार है? पाकिस्तान में अहमदिया समुदाय के बारे में क्या विचार है?

बोस ने कहा कि सभी समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वाली सुभाष चंद्र बोस की सम्मिलित विचारधारा का अनुसरण करने वाली और समाज के सभी वर्गो के विकास के लिए काम करने वाली पार्टी ही 2021 में होने वाले बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा, “और सब व्यर्थ हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here