खराब क्वालिटी के पिच कवर से खुश नहीं है BCCI

267

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट मैच में इस बात की उम्मीद कभी नहीं की जाती कि बारिश के दौरान पिच पर जो कवर डाले गए हों वो फटे हुए हैं और उनसे पानी रिसकर पिच पर पहुंचे, जिसे सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का उपयोग किया जाए, पर ये सभी नजारे रविवार शाम गुवाहाटी के बरसापारा स्टेडियम में देखने को मिले जहां भारत और श्रीलंका के बीच खेला जाने वाला पहला टी-20 बारिश और फिर पिच गीली होने के कारण रद्द कर दिया गया।

यह बात बीसीसीआई को पसंद नहीं आई है, जो अब मुख्य क्यूरेटर आशीष भौमिक की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि यह पहली बार है और इसका सीधा असर नए राज्य संघ के कम अनुभव पर पड़ेगा।उन्होंने भौमिक और सीईओ राहुल जौहरी पर भी उंगली उठाई है।

उन्होंने कहा, इस तरह की चीजें होंगी क्योंकि लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने के बाद सभी संघों के अधिकारियों के सामने इस तरह की चीजें आएंगी। किसी भी संघ के पास मौका नहीं है कि वो निरंतरता में चीजें को प्लान करे। आज के दौर में पूरे विश्व में हित धारकों के लिए निरंतरता सबसे बड़ी चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा, संघों को कभी इस तरह के मामले सुलझाने का मौका नहीं दिया गया। मुझे लगता है कि इसके लिए काफी हद तक बीसीसीआई क्यूरेटर और सीईओ को जिम्मेदार ठहराना चाहिए जिनको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए था कि स्टेडियम में बुनियादी जरूरत की चीजें मौजूद हैं।

एक अन्य अधिकारियों ने प्रशंसकों की निराशा की बात कही जो बाकी का मैदान सूखा होने और सिर्फ पिच गीली होने के कारण निराश लौटे। उन्होंने साथ ही कहा कि अगर कोई पूर्व अधिकारी, सलाहकार के तौर पर भी उनके साथ होता तो इससे मदद मिलती।

उन्होंने कहा, सर्वोच्च अदालत के आदेश के कारण हम पूर्व अधिकारियों से सलाह लेने से डरते हैं। कोर्ट ने हालांकि एक आदेश में कहा है कि हम पूर्व अधिकारियों को सलाहकार के तौर पर ले सकते हैं लेकिन हम जोखिम नहीं लेना चाहते। प्रशंसकों ने जो महसूस किया उससे हम निराश हैं। कुछ लोग तो काफी दूर से गुवाहाटी आए थे लेकिन उन्हें कुछ मिला नहीं।

इस मामले में जब एक पूर्व अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि समय के साथ नए अधिकारी सब कुछ सीख जाएंगे।

पूर्व अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, हमें सौरभ गांगुली के नेतृत्व वाली नए अधिकारियों की टीम पर पूरा भरोसा है। वह सभी संघों के साथ अच्छे से काम करने के लिए जल्द से जल्द कुछ करेंगे ताकि किसी और अन्य स्थल पर प्रशंसकों को इस तरह की चीजों का सामना न करना पड़े।

जब बीसीसीआई के एक अधिकारी से इस मामले में संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि क्रिकेट संचालन क्रिकेट के महाप्रबंधक सबा करीम इस मामले में टिप्पणी करने को लेकर सही शख्स होंगे।

करीम ने इस मामले में आईएएनएस से कहा, मैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के मामले नहीं देखता, लेकिन एक बार जब मुख्य क्येरटर की रिपोर्ट आ जाएगी तभी मैं कुछ कह पाऊंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here