आर्टिफिशियल शुगर के हो सकते है उल्टे प्रभाव, जाने कैसे

349

आप चाय-कॉफी में चीनी की बजाय आर्टिफिशियल शुगर (कृत्रिम मिठास) का सेवन वजन कम करने व डायबिटीज से बचने के लिए करते हैं, लेकिन वह आपकी स्वास्थ्य पर उल्टा प्रभाव कर सकती है. चाैंकिए नहीं, यह हकीकत है. प्रतिष्ठित करंट एथेरोस्क्लेरोसिस रिपोर्ट में प्रकाशित शाेध के मुताबिक, जाे लाेग लो कैलोरी स्वीटनर का प्रयोग करते हैं, उनका वजन घटने के बजाय बढ़ने की संभावना अधिक हाेती है व यह टाइप 2 डायबिटीज का कारण भी बन सकती है. यह निष्कर्ष प्रचलित मान्यता के अच्छा उल्टा है.

यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ ऑस्ट्रेलिया के शाेधकर्ता पीटर क्लिफ्टन बताते हैं कि पिछले 20 सालाें में बच्चाें में स्वीटनर का प्रयोग 200 फीसदी ताे वयस्काें में 54 फीसदी बढ़ा है. दुनियाभर में आर्टिफिशियल शुगर का मार्केट 15,600 कराेड़ रुपए का है. लाे कैलाेरी स्वीटनर्स में कैलाेरी रहित मिठास हाेती है. पहले हुए क्लीनिकल ट्रायल में पाया गया था कि आर्टिफिशियल स्वीटनर वजन कम करते हैं, लेकिन हाल के शाेध में इसका उल्टा प्रभाव देखा गया. अमेरिका में सात वर्ष तक 5158 वयस्काें पर शाेध किया गया.इसमें पाया गया कि जिन लाेगाें ने अधिक मात्रा में स्वीटनर का सेवन किया, उनका वजन इसका प्रयोग न करने वालाें के मुकाबले अधिक बढ़ा.

स्वीटनर आंतों में उपस्थित लाभकारी बैक्टीरिया को बदल देता है

शोधकर्ता पीटर कहते हैं, ‘लोग स्वीटनर का सेवन करते हैं व सोचते हैं कि वे पसंदीदा मिठाई भी खा सकते हैं. आर्टिफिशियल स्वीटनर आंतों में उपस्थित लाभकारी बैक्टीरिया को बदल देता है. इससे वजन बढ़ता है व टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है.’ शाेधकर्ताओं का बोलना है कि स्वीटनर का विकल्प ऐसा भाेजन है, जिसमें साबुत अनाज, दुग्ध उत्पाद, फल-सब्जी व फलियां (बीन्स) हाें.

महिलाएं हरियाली के पास रहें ताे नहीं आता माेटापा
मोटापे से ही जुड़ा दूसरा शोध बताता है कि जाे महिलाएं हरियाली के 300 मीटर के दायरे में रहती हैं, उनमें वजन बढ़ने या माेटापे की संभावना पुरुषाें के मुकाबले कम हाेती है.यह शाेध इंटरनेशनल जर्नल ऑफ हाइजीन एंड एनवायरमेंटल हेल्थ में प्रकाशित हुआ है. इसमें स्पेन के शाेधकर्ताओं ने दावा किया है कि स्त्रियों में माेटापे व हरेभरे गार्डन के बीच सशक्त संबंध है. आसपास हराभरा वातावरण हाे ताे स्त्रियों की शारीरिक गतिविधि खुदबखुद बढ़ जाती है. हरियाली हाेने से शाेर व मानसिक तनाव कम हाेता है, जाे वजन बढ़ने के प्रमुख तत्व हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here