अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज ने बकाया चुकाने में जताई असमर्थता

387

वित्तीय संकट से जूझ रहे अर्जेंटीना के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज ने बकाया चुकाने में एक तरह से असमर्थता जताते हुए वर्तमान संकट की स्थिति की तुलना 2001 के आर्थिक संकट से की है। अर्जेंटीना मंदी के दौर में है और मुद्रा के मूल्य में भारी गिरावट की वजह से 18 महीनों से आर्थिक संकट का सामना कर रहा है।

फर्नांडीज ने रविवार को टीवी कार्यक्रम ला कोरनाइस में साक्षात्कार में कहा , ” वर्तमान में स्थिति 2001 के समान नहीं है , लेकिन करीब – करीब उसी तरह की है। उस समय गरीबी 57 प्रतिशत थी , आज हमारे यहां 41 प्रतिशत लोग गरीब हैं। उस समय हमने कर्ज के भुगतान में चूक की थी , आज हम कर्ज चुकाने में एक तरह से असमर्थ हैं। ”

राष्ट्रपति चुनाव में मौरसियो मैक्री को हराने के बाद फर्नांडीज 10 दिसंबर को सत्ता में आए थे। उन्होंने पहले ही कर्जदाताओं को भुगतान करने की इच्छा जताई थी। सरकार ने शुक्रवार को बकाये कर्ज के भुगतान को अगस्त तक के लिए टाल दिया है। जिसकी वजह से रेटिंग एजेंसी फिच और एसएंडपी ने देश की साख रेटिंग को घटा दिया है। इसे चूक माना जा रहा है। आर्थिक आपातकाल कानून को मंजूरी देने के साथ संसद ने शनिवार को राष्ट्रपति को राजनीतिक समर्थन दिया है। यह कानून सोमवार से लागू होगा। इसमें उच्च एवं मध्यम वर्ग पर कर बढ़ाना , वंचितों के लाभ में सुधार और मुद्रा खरीदने व बेचने पर 30 प्रतिशत कर लगाना शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here