महेंद्र सिंह धोनी की वापसी पर पहली बार बोले अनिल कुंबले, कही बड़ी बात

457

टीम इंडिया (Team India) के पू्र्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) इस वक्‍त किसी रहस्‍य से कम नहीं हैं. कोई नहीं जानता कि वे आने वाले वक्‍त में क्‍या करने वाले हैं. एमएस धोनी (MS Dhoni) क्रिकेट से दूर हैं, लेकिन लगातार चर्चा में हैं. धोनी के साथ जिन भी खिलाड़ियों ने क्रिकेट खेला है, उन सभी से भी यह जानने की कोशिश की जा रही है कि धोनी (Mahi) का भविष्‍य क्‍या होने वाला है, लेकिन कोई कुछ भी कह पाने की स्‍थिति में नहीं है. इन सबके बीच अब भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) से भी यही सवाल किया गया. धोनी (Dhoni) ने अनिल कुंबले (Anil Kumble) की कप्‍तानी में खेला भी है और वे टीम इंडिया के कोच भी रहे हैं.

भारत के पूर्व कोच और कप्तान अनिल कुंबले को लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी का टीम में आना और अगले साल आस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी-20 विश्व कप टीम में जगह बनाना इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) 2020 में किए गए उनके प्रदर्शन पर निर्भर करेगा. अनिल कुंबले ने क्रिकेटनेक्स्ट से कहा, यह इस बात पर काफी हद तक निर्भर करता है कि महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल में किस तरह का प्रदर्शन करते हैं और अगर भारतीय टीम को लगता है कि उसे विश्व कप के लिए एमएस धोनी की जरूरत है तो वहां से वह टीम का हिस्सा बन सकते हैं. लेकिन हमें देखना होगा.

टेस्ट में धोनी के कप्तान रह चुके कुंबले ने कहा है कि टीम प्रबंधन को विकेट लेने वाले विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ जाना चाहिए न कि हरफनमौला खिलाड़ियों के साथ. उन्होंने कहा, मुझे निश्चित तौर पर लगता है कि आपको विकेट लेने वाले गेंदबाजों की जरूरत है और इसीलिए कुलदीप यादव व युजवेंद्र चहल को टीम का हिस्सा होना चाहिए. यह अहम है कि आप विकेट लेने वाले गेंदबाजों के बारे में सोचें. अगर आपको लगता है कि आपको सिर्फ तेज गेंदबाजों की जरूरत जो आपको विकेट निकाल कर देंगे, बजाए हरफनमौला खिलाड़ियों के, मुझे यह लगता है कि यह अच्छा होगा.

अनिल कुंबले ने साथ ही कहा है कि आस्ट्रेलिया के लिए टीम का चुनाव करना लंबी प्रक्रिया है. उन्होंने कहा, यह जरूरी है कि भारत इस बारे में सोचना शुरू करे कि आस्ट्रेलिया में कौन अच्छा करेगा और कौन वो गेंदबाज है जिसके पास विकेट लेने की काबिलियत है क्योंकि इससे विपक्षी टीम पर दबाव आ जाएगा. अनिल कुंबले को लगता है कि भारत को विश्व कप से 10-12 मैच पहले टीम का चुनाव कर लेना चाहिए.

आपको बता दें कि भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी पिछले करीब छह महीने से क्रिकेट से दूरी बनाए हुए हैं. उन्‍होंने अपना आखिरी अंतरराष्‍ट्रीय मैच विश्‍व कप 2019 में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में खेला था, इसके बाद से धोनी ने अपने आप को क्रिकेट से दूर ही रखा है. हालांकि धोनी ने खुद भी अभी तक साफ नहीं किया है कि वे आने वाले वक्‍त में क्‍या करने वाले हैं. यहां तक कि क्रिकेट के विशेषज्ञ भी अभी तक यह नहीं समझ पाए कि धोनी के मन में आखिर चल क्‍या रहा है. टीम से बाहर होने के बाद भी धोनी लगातार सुर्खियों में बने रहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here