ईरान के शीर्ष कमांडर को मारने के बाद अब अमेरिका ने क्यूबा के डिफेंस चीफ पर लगाया प्रतिबंध

221

ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी को मारने के आदेश के बाद से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप फुल फॉर्म में आ गए हैं. उन्होंने ईरानी नेतृत्व के बदला लेने की चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए अब क्यूबा के रिवोल्यूशनरी आर्म्स फोर्सेस मंत्री लियोपोल्डो सिंट्रा फ्रियास पर प्रतिबंध लगा दिया है. अमेरिकी विदेश विभाग ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि सिंट्रा पर इसलिए प्रतिबंध लगाया गया है, क्योंकि वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के प्रशासन को समर्थन देने में क्यूबा की भूमिका के लिए वह जिम्मेदार हैं.

वेनेजुएला को समर्थन पर कार्रवाई
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, वॉशिंगटन मादुरो प्रशासन पर लंबे समय से मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोप लगाता आ रहा है. प्रतिबंधित किए गए लोगों में एक सैन्य अधिकारी और सिंट्रा के बच्चे भी शामिल हैं, जिनके अमेरिका प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. अमेरिका ने प्रतिबंधों के जरिए क्यूबा के प्रति अपनी नीति सख्त कर दी है. हवाना ने कहा है कि इससे लगता है कि वेनेजुएला के खिलाफ वॉशिंगटन के दबाव का अभियान विफल हो गया है.

इसके पहले ईरानी कमांडर को मारने के दिए आदेश
इसके पहले पेंटागन ने स्पष्ट कर दिया था कि बगदाद के एयरपोर्ट पर किए गए ड्रोन हमले को ट्रंप के आदेश पर अंजाम दिया गया. इसके बाद ईरान के शीर्षनेता अल खामेनेई ने अमेरिका के इस कदम को उकसावेपूर्ण और बचकाना बताते हुए बदला लेने की बात कही है. इसके बाद अमेरिका ने ईरान में रह रहे अपने नागरिकों को देश चोड़ कर चले आने की चेतावनी जारी की थी. मध्य-पूर्व में इस तनातनी के बाद कुछ लोग इसे नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी सो जोड़ तीसरे विश्व युद्ध का आगाज करार दे रहे हैं.

क्यूबा के रिवोल्यूशनरी आर्म्स फोर्सेस मंत्री लियोपोल्डो सिंट्रा फ्रियास पर प्रतिबंध.
वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के प्रशासन को समर्थन देने के जिम्मेदार.
अमेरिका ने प्रतिबंधों के जरिए क्यूबा के प्रति अपनी नीति सख्त कर दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here