एक और पाकिस्तानी पेशेवर को अफगानिस्तान में ‘उठाने’ का आरोप

180

अफगानिस्तान में पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि अफगान सुरक्षा अधिकारियों ने ‘एक और पाकिस्तानी पेशेवर को उठा लिया है।’ पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि यह अफगानिस्तान में पाकिस्तानी पेशेवरों को विभिन्न रूपों में काम करने से रोकने के एक ‘सुविचारित अभियान’ का हिस्सा है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा कि काबुल में एक चेकप्वाइंट पर नेशनल डॉयरेक्ट्रेट आफ सिक्योरिटी के अफसरों ने सईदुल्ला को उठा लिया। यह पाकिस्तानी सलाहकार बीते दस सालों से एक अफगान कंसल्टेंसी फर्म के लिए काम कर रहा है।

दूतावास के एक अधिकारी ने बताया कि इस मामले को अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय के समक्ष रखा गया है। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में पाकिस्तानी पेशेवरों के अपहरण की यह तीसरी घटना है।

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता आएशा फारूकी ने सईदुल्ला की गिरफ्तारी की पुष्टि की। उन्होंने विदेश मंत्रालय के व्हाट्सएप ग्रुप पर एक सवाल के जवाब में कहा, “हां, हमें इसकी जानकारी है और हमने इस मामले को इस्लामाबाद और काबुल, दोनों जगहों पर अफगान अधिकारियों के समक्ष उठाया है।”

इस्लामाबाद में अफगानिस्तान के राजदूत आतिफ मशाल ने कहा कि वह इस गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं कर सकते लेकिन उन्होंने इस मामले में पाकिस्तान के रुख से काबुल में अफगान विदेश मंत्रालय को अवगत करा दिया है। हालांकि, अफगान विदेश मंत्रालय को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। हम मामले को देख रहे हैं कि सच्चाई क्या है।

पाकिस्तानी अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि सईदुल्ला पर क्या आरोप लगाए गए हैं। इससे पहले पाकिस्तानी सूत्र काबुल में लगातार यह बात कहते रहे हैं कि अफगान खुफिया एजेंसी पाकिस्तानी पेशेवरों पर जासूसी के इल्जाम लगाती रहती है।

अफगानिस्तान सरकार का कहना है कि उसके देश में आतंकवादी घटनाओं में पाकिस्तान में पनाह लिए आतंकियों का हाथ रहता है। पाकिस्तान इस आरोप को मानने से इनकार करता रहा है। लेकिन, इस आरोप-प्रत्यारोप के बीच दोनों देशों के बीच संबंध काफी बिगड़ गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here