60 फीसदी फैंस का मानना, 2020 में आईपीएल की वापसी संभव

337

नई दिल्ली। लोकप्रिय आईपीएल के 13वें को कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है और यह तय नहीं है कि इस साल आईपीएल कब शुरू होगा लेकिन 60 फीसदी फैंस का मानना है कि आईपीएल को 2020 में वापसी संभव है।

भारत के प्रमुख फैंटसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म्स में से एक मायटीम 11 ने कुल 10,000 लोगों के सैंपल को लेते हुए एक सर्वे का आयोजन किया। यह देश का पहला ऐसा सर्वे था जिससे फैंस की खेलों की वापसी के प्रति मानसिक स्थिति का आभास मिल पाया है और स्पोर्ट्स व्यवसाय पर क्या असर पड़ेगा इसका भी एक अंदाजा लग गया है।

कोरोना वायरस के चलते विश्व के सबसे बड़े खेल समारोह यानी टोक्यो ओलम्पिक को 2021 तक स्थगित कर दिया गया है और इसी घटना ने किसी भी प्रकार के खेलों की वापसी पर बहुत सारे प्रश्न खड़े कर दिए हैं। विश्व के लिए जैसे ओलम्पिक है वैसे ही भारत के लिए आईपीएल है।

इस सर्वे के प्रमुख निष्कर्षों के रूप में एक यह परिणाम निकल कर आया है कि अभी भी 60 फीसदी भारतीय क्रिकेट फैंस यह उम्मीद लगाए बैठे हैं कि 2020 में आईपीएल का आयोजन संभव है, लेकिन कब, इस पर सर्वे में भी विवाद दिखाई दिया है। 40 फीसदी लोगों ने यह साफ़ तौर से माना कि आईपीएल का आयोजन 2020 में बहुत ही मुश्किल लगता है।

इसी सर्वे के दूसरे महत्त्वपूर्ण निष्कर्ष में यह बात भी सामने आई है कि लगभग 40 फीसदी लोग कोरोना वायरस के डर से 2021 से पहले स्टेडियम में जाने से कतरा रहे हैं। जो यह भी दर्शाता है कि लोग अभी अपने गैजेट्स या टीवी सेट्स पर खेल कूद का आनंद लेना ज़्यादा पसंद करेंगे जब तक इस वैश्विक महामारी का ठोस इलाज नहीं निकल कर आता।

क्रिकेट का महासंग्राम कहे जाने वाले आईपीएल की 29 मार्च से शुरुआत होनी थी लेकिन देशभर में लॉकडाउन के कारण इसे अनिश्चित समय के लिए स्थगित कर दिया गया है। अब 2020 में टूर्नामेंट का आयोजन करने के लिए केवल दो विंडो उपलब्ध है जो सितम्बर से लेकर नवम्बर तक हो सकती हैं।

सितम्बर में एशिया कप का टी-20 प्रारूप में आयोजन होना है जबकि अक्टूबर-नवम्बर में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप का आयोजन होना है। यदि विश्व कप का आयोजन टलता है तो दर्शकों के बिना आईपीएल के आयोजन के बारे में सोचा जा सकता है।

इसी सर्वे के दूसरे महत्त्वपूर्ण निष्कर्ष में यह बात भी सामने आयी है कि लगभग 40 फीसदी लोग कोरोना वायरस के डर से 2021 से पहले स्टेडियम में जाने से कतरा रहे हैं। जो यह भी दर्शाता है कि लोग अभी अपने गैजेट्स या टीवी सेट्स पर खेल कूद का आनंद लेना ज़्यादा पसंद करेंगे जब तक इस वैश्विक महामारी का ठोस इलाज नहीं निकल कर आता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here