अमित शाह के स्वागत में जुटी RLJP, जानिए क्या है पूरा प्लान…

19
अमित शाह के स्वागत में जुटी RLJP, जानिए क्या है पूरा प्लान...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 23 सितंबर को दो दिवसीय दौरे पर बिहार आने वाले हैं. उनके आने को लेकर राजधानी में तैयारियों का दौरा जारी है. राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी और दलित सेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा कि अमित शाह की रैली ऐतिहासिक होगी। कार्यकर्ताओं में गृहमंत्री अमित शाह के आगमन को लेकर काफी उत्साह है।  अमित शाह के आगमन को लेकर पशुपति कुमार पारस की पार्टी RLJP और दलित सेना के कार्यकर्ता तैयारी में जुट गए हैं। 23 सितंबर को पूर्णिया में होने वाली अमित शाह की जनसभा में सीमांचल के चारों जिले पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार और अररिया से हजारों की संख्या में राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी और दलित सेना के कार्यकर्ता शामिल होंगे।

राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी और दलित सेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा है कि गृहमंत्री अमित शाह के सीमांचल दौरे और 23 सितंबर को पूर्णियां के रंगभूमि मैदान में होनेवाली जनभावना रैली को ऐतिहासिक बनाने और अमित शाह के शानदार स्वागत के लिए राष्ट्रीय लोजपा और दलित सेना के कार्यकर्ता जोर-शोर से तैयारी में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि रालोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस के निर्देश पर सीमांचल के चारों जिले पूर्णियां, किशनगंज, कटिहार और अररिया से हजारों की संख्या में कार्यकर्ता अमित शाह की रैली में शामिल होंगे। अमित शाह के सीमांचल दौरे से भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ-साथ राष्ट्रीय लोजपा और दलित सेना के कार्यकर्ताओं में भी गजब का जोश और उत्साह देखा जा रहा है।

श्रवण अग्रवाल ने कहा कि देश के पहले गृहमंत्री के बाद देश को दूसरे लौह पुरूष और गृहमंत्री के रूप में अमित शाह ने विश्वपटल पर शक्तिशाली और गौरवशाली भारत के निर्माण के लिए अनेकों अभूतपूर्व निर्णय लेने का काम किया है। देश में अमित शाह की पहचान एक ऐसे नेता के रूप में स्थापित हुई है जो सभी चीजों को सही तरीके से ठीक करने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि पशुपति कुमार पारस के निर्देश पर अमित शाह के स्वागत के लिए पूरे पूर्णिया शहर में पार्टी की ओर से होर्डिंग्स, तोरणद्वार एवं झंडो से सजाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने 70 वर्षो से सीमांचल की अनदेखी की है। अमित शाह के दौरे से सीमांचल के जिलों में विकास की नये अध्याय की शुरूआत होगी। प्रवक्ता अग्रवाल ने कहा कि 24 सितम्बर को अमित शाह की किशनगंज में होनेवाली बैठक में सीमा पार से होनेवाली तस्करी को रोकने, सीमांचल के इलाके में घुसपैठ की रोकथान तथा सीमा सुरक्षा के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये जाने की पूरी संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here