सुशील मोदी ने सरकार से की मांग, कहा- रामानंद यादव को मंत्री पद से हटाया जाए

26
सुशील मोदी ने सरकार से की मांग, कहा- रामानंद यादव को मंत्री पद से हटाया जाए

पटना : बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद से ही भाजपा और महागठबंधन के नेताओं के बीच आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. इस बीच, रामानंद यादव को मंत्री पद से हटाए जाने की मांग बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने किया है।। राज्य सभा सांसद सुशील मोदी ने कहा कि राजद विधायक रीतलाल यादव के लोग खनन विभाग के अधिकारी को धमकी दे रहे हैं। इस विभाग के मंत्री रामानंद यादव हैं जिन पर कई गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। रंगदारी से जुड़ी धारा उनपर है। जिसमें दस वर्ष की सजा का प्रावधान है।

सुशील मोदी ने कहा कि रामानंद यादव पर अवैध हथियार रखने, पुलिस से हथियार छिनना,चोरी का समान रखने का भी आरोप उन पर लगे हैं। पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज किया है उसमें विभिन्न धाराओं के अंदर ये सारे मामले चल रहे हैं। इसलिए हमने ये मांग किया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मंत्रीमंडल से इस प्रकार की छवि के लोगों को अविलंब बर्खास्त करना चाहिए।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से यह मांग की हैं कि खान एवं भूतत्व विभाग को जेडीयू या कांग्रेस कोटे के अंतर्गत दिया जाए ऐसा इसलिए कि बालू माफिया का सीधा संबंध आरजेडी से है। सुशील मोदी ने रामानंद यादव को मंत्री पद से हटाए जाने की मांग की

सुशील मोदी ने बताया कि बिहार में लालू और बालू का रिश्ता पुराना हैं। बिहार में आज फिर से बालू माफिया का राज है। पटना में खनन विभाग के अधिकारी को राजद नेता रीतलाल यादव के लोग धमकी देते हैं। इस विभाग के मंत्री रामानंद यादव हैं। जिन पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। सुशील मोदी ने यह भी बताया कि पूर्व सीएम राबड़ी देवी के 8 फ्लैट को बालू माफिया ने खरीदा था। सारे बालू माफिया राजद से जुड़े हुए हैं।

सुशील मोदी ने लालू यादव से दूसरे बालू माफिया संदेश के पूर्व विधायक अरुण यादव के संबंध का भी खुलासा किया है। अभी इनकी पत्नी वहां से विधायक है। अरुण डेढ साल से फरार थे दो महीने पूर्व सरेंडर किया है। नाबालिग बच्ची से बलात्कार का आरोप है। जेल ना जाकर सीधे अस्पताल चले गये वहां रहकर बालू का व्यापार करते हैं।

अरुण यादव की कंपनी किरण दुर्गा कंस्ट्रक्शन ने 5 फ्लैट राबड़ी देवी से खरीदा। 3 प्लैट सुभाष यादव ने खरीदा। एक ही दिन में 8 फ्लैट बालू माफिया ने खरीदा। रेलवे में नौकरी के बदले जो जमीन लिखवाया गया उसी जमीन पर फ्लैट बना। उसी अपार्टमेंट में 18 फ्लैट की मालकिन राबड़ी देवी है। जिसमें से 8 फ्लैट बालू माफिया को बेचा गया। पटना में एक ही दिन चार करोड़ 28 लाख रुपए के 8 फ्लैट राबड़ी देवी ने बालू माफिया से बेच दिया।

सुशील मोदी ने कहा कि अपहरण के आरोपी कार्तिकेय सिंह फरार है। सरकार ने फरार होने का मौका दिया।अभी भी पटना में अपने मॉल में बैठे रहते हैं लेकिन कोई पकड़ने वाला नहीं है। जब कार्तिकेय सिंह की गिरफ्तारी अब तक नहीं हो पायी है तो ऐसे में उम्मीद कैसे की जा सकती है कि खनन माफिया और बालू माफिया पर कार्रवाई की जाएगी। एक ओर सरकार के राजस्व की क्षति हो रही है तो वही दूसरी ओर किसी खास राजनैतिक पार्टी के खजाने में करोड़ों रूपये जा रहा है। दूध की रखवाली का काम बिल्ली को दे दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here