डिप्टी सीएम बनते ही बदल गए तेजस्वी के तेवर|

34
सरकार में आते ही बदल गये तेजस्वी

PATNA: खबर पटना की हैं जहां बीपीएससी अभ्यर्थियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जिसमें कई अभ्यर्थी घायल हो गये। पुलिस के इस रवैय्ये और बीपीएससी के अधिकारियों की तानाशाही से परेशान अभ्यर्थी बुधवार की देर शाम उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मिलने पहुंचे थे। राबड़ी आवास के बाहर भारी संख्या में बीपीएससी अभ्यर्थी मौजूद थे। लेकिन उनकी मुलाकात नहीं हुई। जिससे नाराज होकर अभ्यर्थियों ने कह दिया कि सरकार में आते ही तेजस्वी यादव बदल गये हैं। विपक्ष में रहते हुए जिस तरह से छात्रों से पहले मिलते थे वैसा अब नहीं दिखता। जब वे नेता प्रतिपक्ष थे तब आधी रात में भी फरियादियों से मिलने पहुंच जाते थे लेकिन अब मिलने से परहेज करते हैं।

पैटर्न में बदलाव और एक ही शिफ्ट में परीक्षा लिए जाने की मांग को लेकर अभ्यर्थियों ने बीपीएससी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया और नारेबाजी की। अभ्यर्थियों के प्रदर्शन को देखते ही उन्हें वहां से हटाने की कोशिश की गयी। लेकिन जब अभ्यर्थी वहां से नहीं हटे तब पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। बुधवार को अपनी दो मांगों को लेकर अभ्यर्थी BPSC कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे।

अभ्यर्थियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। अभ्यर्थी परसेन्टाइन और एक शिफ्ट का एग्जाम लेने की मांग कर रहे थे। लाठीचार्ज के बाद वे तेजस्वी यादव से मिलने राबड़ी आवास आए हुए थे। अभ्यर्थियों का कहना है कि बड़ी उम्मीद लिए युवा नेता तेजस्वी यादव से मिलने आए थे उन्हें ज्ञापन सौंपना था। वे युवाओं के नेता हैं हमारी बाते सुनेंगे।

दोपहर से आए हुए हैं लेकिन अब तक तेजस्वी यादव से मुलाकात नहीं हो पाई है। पता चला कि तेलंगाना के सीएम लालू यादव से मिलने आए हुए हैं। इसलिए थोड़ा विलंब होगा। लेकिन और कितने देर इंतजार हम लोग करेंगे।  अभ्यर्थियों का कहना था कि बीपीएससी का घेराव वे आज कर रहे थे। तभी लाठीचार्ज कर दिया गया जिसमें कई घायल हो गये।

घायल अभ्यर्थियों को पुलिस अपने साथ ले गयी है। जब शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे तब लाठीचार्ज क्यों किया गया। अभ्यर्थियों का कहना है कि  अतुल प्रसाद ने खुद 31 अगस्त को मिलने के लिए बुलाया था। कहा था कि उस दिन ही विचार विमर्श करेंगे। लेकिन बीपीएससी कार्यालय आने पर उनसे मुलाकात नहीं हुई और लाठियां चलवाई गयी। चेयरमैन साहब तानाशाह बने हुए है। एक भी बात नहीं सुन रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here