नितीश बने हिन्दू विरोधी ,अब मांग रहे माफ़ी |

45
नितीश बने हिन्दू विरोधी

बीजेपी का नीतीश पर निशाना जैसा की आपको हमारे खबर के माध्यम से पता चल ही गया होगा की विष्णुपद मंदिर में मंत्री मो. इसराईल मंसूरी के साथ जाने का मामला बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा हैं.

दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गया के विष्णुपद मंदिर में मंत्री मो. इसराईल मंसूरी के साथ जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मुद्दे को लेकर बीजेपी सीएम नीतीश पर लगातार हमलावर बनी हुई है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा है कि नीतीश कुमार ने हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंचाने के लिए एक साजिश के तहत ऐसा काम किया है और इसके लिए उन्हे सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। इधर, इस विवादित मुद्दे पर आरजेडी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बचाव में उतर गई है। आरजेडी ने कहा है कि बीजेपी बेवजह इस मामले को तूल दे रही है। धर्म के नाम पर नफरत फैलाना बीजेपी का पुराना काम है।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा है कि ऐसा नहीं है कि नीतीश कुमार को इसकी जानकारी नहीं थी, वे वर्षों से गया के विष्णुपद मंदिर जाते रहे हैं। नीतीश कुमार अच्छी तरह से जानते हैं कि विष्णुपद मंदिर में गैर हिन्दू के प्रवेश पर रोक है लेकिन उन्होंने जान बूझकर हिन्दुओं की आस्था को ठेस पहुंचाने के लिए मंत्री मो. इसराईल मंसूरी के साथ मंदिर में गए। मंदिर में मौजूद पंडो ने इसका विरोध किया तो उनकी बात नहीं सुनी गई। उन्होंने कहा कि यह एक सोची समझी साजिश का हिस्सा है और नीतीश कुमार इस पूरी साजिश में शामिल हैं।

संजय जायसवाल ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार पहले भी अपने उच्च पदस्त अफसरों से हिंदुओं के खिलाफ काम कराते रहे हैं। उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से पूछा है कि क्या वे काबा और मक्का मदीना जाकर अपनी सेक्युलरिज्म को दिखाएंगे। इस तरह के कार्य करना नीतीश कुमार के मानसिक विकलांगता का प्रतीक है। नीतीश कुमार ने जो भी किया है वह क्षमा के योग्य नहीं है, बीजेपी इसका पूरजोर तरीके से विरोध करेगी। नीतीश कुमार को सार्वजनिक रूप से हिंदुओं से मांफी मांगनी चाहिए। संजय जायसवाल ने कहा है कि नीतीश कुमार की यह पुरानी आदत रही है, वे जब मुख्यमंत्री पद की भी शपथ लेते हैं तो ईश्वर का नाम नहीं लेते हैं।

इधर, आरजेडी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि बीजेपी बेवजह इस मामले को तूल दे रही है। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि यह कोई मुद्दा नहीं है, बिहार में सब धर्म के लोग एक दूसरे के धर्म का सम्मान करते हैं। धर्म के नाम पर नफरत फैलाना बीजेपी का पुराना काम है। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि बीजेपी का यह हाल हुआ है और बिहार में बीजेपी की और भी दुर्गति होनी बाकी है। मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि बीजेपी विवादित मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है उसे जनता की चिंता नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here