Online Fraud: ठगों ने ढूंढे ठगी के नए तरीके, बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

31

पैसों के लेन-देन का स्वरूप बदलने के साथ ही ठगी के तरीके भी बदले हैं. ठगों ने लोगों को अपने झांसे में फंसाने के लिए नए-नए तरीके ईजाद किए हैं.

Digital Fraud: पहले लोगों को एटीएम और बैंकों में लंबी लाइनें लगानी पड़ती थीं. कभी एटीएम खाली हो जाने की वजह से उन्हें वापस लौटना पड़ता था, तो कभी बैंक की टाइमिंग और अवकाश के चलते लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ता था, लेकिन इंटरनेट बैंकिंग और डिजिटल लेनदेन के चलते लोगों को बहुत सहूलियत मिली है. चूंकि डिजिटल लेन-देन का चलन काफी ज्यादा बढ़ा है, इसलिए एटीएम में पर्याप्त कैश मिल जाता है और लंबी लाइनों की समस्या से भी मुक्ति मिल गई.

पैसों के लेन-देन का स्वरूप बदलने के साथ ही ठगी के तरीके भी बदले हैं. ठगों ने लोगों को अपने झांसे में फंसाने के लिए नए-नए तरीके ईजाद किए हैं. अपनी इस स्टोरी में हम बतायेंगे कि ठगों के द्वारा किस तरह के तरीके आजमाकर लोगों को ठगा जा रहा है और आपको कैसे उन्हें पहचानना है.

ठगों के अलग-अलग हथकंडे और उनसे कैसे करें बचाव

ठगों ने एक से एक अनोखे ठगी के हथकंडे निकाले हैं. अगर थोड़ी सी भी असावधानी बरती और आपने अपनी जानकारियां शेयर करने की गलती की तो आप ठगी के शिकार शिकार हो जाएंगे. इससे कैसे निपटा जाए हम आपको बता रहे हैं.

बैंक कॉल के नाम पर ठगी

बैंक की तरफ से फर्जी कॉल के नाम पर शातिर ठग लोगों से उनके खातों, एटीएम से संबंधित डिटेल्स मांगते हैं. वो आपको बताते हैं कि आपका अकाउंट या एटीएम बंद होने वाला है और अगर उसे जारी रखना है तो उनसे संबंधित जानकारियां उन्हें दे दें.

अगर आपने उन्हें मांगी गई जानकारी साझा कर दी तो वो एक झटके में पूरा अकाउंट खाली कर देते हैं. सभी बैंक इस तरह की ठगी से लोगों को सावधान करने के लिए मैसेज के जरिए लोगों को बताते रहते हैं कि वह कभी भी फोन कॉल करके अपने ग्राहक से डिटेल्स नहीं मांगते हैं. इसलिए कभी भी इस तरह कॉल पर भरोसा करके जानकारियां साझा ना करें.

मैसेज लिंक के जरिए-

कई बार हमारे वाट्सएप या सामान्य मैसेज इनबॉक्स में भारी-भरकम इनामी राशि जीतने या कोई बेहद महंगी चीज चंद रुपए में मिलने का मैसेज लिंक के साथ आता है. मैसेज में उस लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है.

अगर आप उस लिंक पर क्लिक करते हैं और उसमें माँगी गई जानकारियां भर देते हैं तो भी आपके बैंक अकाउंट से ठगों के द्वारा पैसे साफ कर दिए जाते हैं.

आपको ये समझना होगा कि इतनी महंगी चीज या इतना बड़ा इनाम कोई यूँ ही आपको क्यों देगा और यही संदेह आपको ठगी का शिकार होने से बचा सकता है.

सोशल मीडिया अकाउंट हैक करके या डमी बनाकर

इस तरह की ठगी आजकल बहुत की जा रही है. ठगों के द्वारा किसी भी व्यक्ति के नाम का फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट बनाया जा रहा है या फिर उनका अकाउंट हैक कर लिया जाता है. उसके बाद जिसके नाम से अकाउंट बनाया है या जिनका अकाउंट हैक किया है,उनके जानकारों को फ्रेंड लिस्ट में शामिल करके और मैसेज भेजकर सबको ज़रूरत की बात बोलकर उधार रुपए मांगते हैं. कुछ जानकार इस झांसे में आ जाते हैं और बिना सोचे-समझे पैसे दे देते हैं.

हाल ही में इस तरह के अनगिनत मामले सामने आए हैं. यहां आपके लिए सोचने की बात यह है कि अगर पैसे मांगने वाला आपका बहुत नजदीकी व्यक्ति है तो वह आपसे सीधे कॉल करके या अन्य तरीके से संपर्क कर पैसे मांगेगा. हो सकता है उसके पास आपका नंबर ना हो तो वह सोशल मीडिया अकाउंट से आपसे नंबर मांग सकता है. ऐसे में आपको बहुत सतर्क रहने की जरूरत है. बिना जाँचे-परखे पैसे ना दें अन्यथा आप ठगी का शिकार हो सकते हैं.

कई अन्य तरीके हैं भी जिनके जरिए ठग लोगों को चपत लगाते हैं. जैसे भावनात्मक अपील का पोस्ट लिंक के साथ वायरल करके,इस तरह की अपीलें कई बार सही भी होती हैं लेकिन लिंक पर जाने से पहले या पैसे अकाउंट में डालने से पहले हमें सोर्स को पूरी तरह जांच-परख लेना चाहिए. इसके अलावा अगर आप ठगी के शिकार हो गए हैं तो इसकी जानकारी पुलिस को जरूर दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here