उत्तराखंड के हर गांव में बजेगी मोबाइल की घंटी, बीएसएनएल के 1200 टावर लगेंगे; केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव से मिले सीएम पुष्कर सिंह धामी

61

उत्तराखंड के सुदूर इलाकों में संचार नेटवर्क को मजबूत करने के लिए संचार मंत्रालय ने बीएसएनएल के 1206 टावरों को मंजूरी दी है। इसके साथ ही रेल मंत्रालय उत्तराखंड में रेल नेटवर्क को मजबूत करने पर भी सहमत हो गया है। सीएम पुष्कर धामी ने शनिवार को नई दिल्ली में केंद्रीय रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव से शिष्टाचार मुलाकात की।

सीएमए ने उत्तराखंड में मोबाइल नेटवर्क का मुद्दा उठाया। जिस पर केंद्रीय मंत्री ने उत्तराखंड के लिए बीएसएनएल के 1206 मोबाइल टावरों को मंजूरी देने पर सहमति जताई। प्रत्येक टावर पर एक करोड़ रुपये खर्च होंगे।

1202 गांवों में 4जी नेटवर्क नहीं
उत्तराखंड के 1202 गांवों में अभी भी 4जी नेटवर्क नहीं है। इनमें अल्मोड़ा जिले के 28, बागेश्वर के 97, चमोली के 123, चंपावत के 103, देहरादून के 55, पौड़ी के 195, हरिद्वार के पांच, नैनीताल के 59, पिथौरागढ़ के 244, रुद्रप्रयाग के 24, रुद्रप्रयाग के 24, तेहनगर के 113 शामिल हैं. और हम। उत्तरकाशी में 148 गांव हैं। वहीं, करीब 400 गांव ऐसे भी हैं जहां संचार नेटवर्क नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here