कौन है अयमान अल जवाहिरी- अल कायदा प्रमुख अमेरिकी हमले में मारा गया?

33

अल-कायदा प्रमुख अयमान-अल-जवाहिरी एक अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया हैं। अफगानिस्तान ड्रोन अटैक में अमेरिका ने यह बड़ी कामयाबी हासिल की है। अमेरिका पिछले 21 साल से अल-जवाहिरी की तलाश में था। अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए ने उन्हें एक आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान मार गिराया था। अधिकारियों के मुताबिक, जवाहिरी को उस वक्त निशाना बनाया गया, जब वह घर की बालकनी में बैठे थे। इसके बाद ड्रोन से उस पर दो मिसाइल दागी गईं। अल-जवाहिरी ने 11 सितंबर, 2001 को संयुक्त राज्य अमेरिका पर हमलों में सहायता की। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस बड़े ऑपरेशन के बाद कहा है कि अब न्याय हो गया है।

2011 में ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद अयमान अल-जवाहिरी ने अल-कायदा की कमान संभाली। जवाहर को लादेन का बेहद करीबी माना जाता था। उसने दुनिया के कई हिस्सों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने में मास्टरमाइंड की भूमिका निभाई थी। दुनिया के कई जानकारों के मुताबिक 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर हुए हमले के पीछे जवाहिरी का हाथ था। इस हमले में करीब 3000 अमेरिकी मारे गए थे. इस खतरनाक हमले के लिए चार विमानों को हाईजैक कर लिया गया था। इनमें से दो विमान वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के दोनों टावरों से टकरा गए।

हाल के वर्षों में, जवाहिरी अल-कायदा के सबसे प्रमुख प्रवक्ता के रूप में उभरा है। 2007 में, वह 16 वीडियो और ऑडियो टेप में दिखाई दिए। जो बिन लादेन से चार गुना ज्यादा है। वास्तव में, इस संगठन ने दुनिया भर में मुसलमानों को कट्टरपंथी बनाने और भर्ती करने की कोशिश की। साथ ही जनवरी 2006 में इसे अफगानिस्तान के साथ पाकिस्तान की सीमा के पास एक अमेरिकी मिसाइल से निशाना बनाया गया था। इस हमले में अलकायदा के चार सदस्य मारे गए थे। लेकिन जवाहिरी बच गया और दो हफ्ते बाद वीडियो में फिर से दिखाई दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here