ऐ.पी.जे. अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर जाने उनके दस बहुमूल्य विचार

48

महान वैज्ञानिक,विचारक,शिक्षक और देश के पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम की आज 27 जुलाई को सातवीं पुण्यतिथि है। उनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम है। दुनियाभर में ‘मिसाइल मैन ऑफ इंडिया’ के नाम से मशहूर डॉक्टर कलाम भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं, मगर उनके आदर्शों से भरा जीवन आज भी हर किसी को प्रेरित करता हैं। जानते हैं उनके दस मशहूर कोट्स जो किसी का भी जीवन बदल सकते हैं

सपने वो नहीं होते जो हम नींद में देखते हैं, सपने तो वो होते हैं जो हमें सोने नहीं देते।

हमें हार नहीं माननी चाहिए और समस्याओं को खुद को हराने नहीं देना चाहिए।

दुनिया में किसी को हराना बहुत आसान है और मगर किसी को जीतना उतना ही मुश्किल।

पहली बार जीत मिलने पर हमें आराम नहीं करना चाहिए, अगर दूसरी बार हार गए तो लोग कहेंगे कि हमारी पहली जीत सिर्फ एक तुक्का थी।

अगर सूरज की तरह चमकना चाहते हो तो पहले सूरज की तरह जलो।

विज्ञान मानवता के लिए खूबसूरत तोहफा है, हमें इसे बिगाड़ना नहीं चाहिए।

देश का सबसे अच्छा दिमाग क्लास की आखिरी बेंच पर पाया जा सकता है।

जो अपने दिल से काम नहीं करते वो हासिल करते हैं मगर सिर्फ खोखली चीजें, अधूरे मन से सफलता अपने आसपास कड़वाहट पैदा करती है।

दुनिया डर की कोई जगह नहीं है, सिर्फ ताकत ताकत का सम्मान करती है।

इंतजार करने वाले को उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here