Mumbai News: मुंबई में लगातार हो रही बारिश से सात झीलों को हुआ फायदा, 10 दिनों में वॉटर स्टॉक 11 % से 40 फीसदी बढ़ा

63
मुंबई में लगातार बारिश हो रही है इस वजह से शहर को पेयजल की आपूर्ति करने वाली 7 झीलों के पानी के स्टॉक में भी वृद्धि हुई है.पिछले 24 घंटे में झीलों के संयुक्त जल भंडार में 5 फीसदी की और बढ़ोतरी हुई है.

Mumbai News: मुंबई महानगर में पिछले कई दिनों से बारिश (Rain) हो रही है. लगातार बारिश के कारण जहां एक तरफ जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है तो वहीं दूसरी तरफ शहर को पेयजल की आपूर्ति करने वाली झीलों को इसका फायदा पहुंचा है. गौरतलब है कि शहर को पीने का पानी सप्लाई करने वाली वाली सात झीलों में पानी का स्टॉक महीने की शुरुआत से 11% से बढ़कर 40% हो गया है. दस दिन पहले, झीलों में कुल पानी का भंडार केवल लगभग 1.6 लाख मिलियन लीटर था, या उनकी लगभग 14.5 लाख मिलियन लीटर की पूरी क्षमता का 11% था.

सातों झीलों का कंबाइंड वॉटर स्टॉक कितना हुआ?

मुंबई की सभी सातों झीलों का कंबाइंड वॉटर स्टॉक 5.8 लाख मिलियन लीटर या वार्षिक कुल जल भंडार का 40% तक बढ़ गया है. इसकी तुलना में पिछले साल 11 जुलाई को संयुक्त जल भंडार 2.5 लाख मिलियन लीटर या वार्षिक कुल वॉटर स्टॉक का 17.6 फीसदी था.

पिछले 24 घंटे में झीलों का संयुक्त जल भंडार 5 फीसदी बढ़ा

बता दें कि पिछले 24 घंटों में, झीलों के कंबाइंड पानी के भंडार में लगभग 5% की वृद्धि देखी गई है. वहीं झीलों का जल भंडारम बढ़ने के बाद बीएमसी ने हाल ही में मुंबई के लिए 10% पानी की कटौती करने के अपने फैसले को वापस ले लिया है. हालांकि बीएमसी ने जनता से झीलों के अपने इष्टतम स्तर तक पहुंचने तक पानी का विवेकपूर्ण इस्तेमाल करने का अनुरोध भी किया है. नगर निगम के एक अधिकारी ने कहा, “जलग्रहण क्षेत्रों में झीलों को अक्टूबर तक 14 लाख मिलियन लीटर से अधिक तक पहुंचने की जरूरत है ताकि मुंबई पूरे साल पानी की कटौती के बिना रह सके.”

पिछले साल अगस्त में मुंबई में 20 फीसदी पानी की कटौती हुई थी

अधिकारी ने आगे कहा कि अगर मुंबई में ऐसे ही बारिश का दौर जारी रहता है, तो हम उम्मीद करते हैं कि झीलें जल्द ही भर जाएंगी.” पिछले साल अगस्त के पहले सप्ताह में 20 फीसदी पानी की कटौती की गई थी क्योंकि अपर्याप्त बारिश के कारण झीलों का जल स्तर कम था. .

पिछले 24 घंटों में झीलों में कितनी बारिश हुई

बता दें कि पिछले 24 घंटों में आपूर्ति झीलों में दर्ज की गई वर्षा के मुताबिक ऊपरी वैतरणा 88 मिमी, मोदक सागर 73 मिमी, तानसा 68 मिमी,मध्य वैतरणा 89 मिमी, भाटसा, 89 मिमी, विहार 26 मिमी, और तुलसी 43 मिमी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here