मौसम : दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने ढाया कहर, IMD की भविष्यवाणी, अगले 24 घंटों में इन राज्यों में होगी भारी बारिश

131

 दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में आज यानी शनिवार को जमकर बारिश हुई. कई क्षेत्रों में बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई. बता दें कि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कई क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी का दौर जारी है.

पहाड़ों में हो रही बर्फबारी और मैदानी इलाकों में हो रही बारिश की वजह से ठंड बढ़ गई है. इस बीच, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने एक बार फिर देश के कई हिस्सों के लिए बारिश का अलर्ट जारी किया है.

शनिवार को मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की कि अगले 24-48 घंटों में पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में भारी बारिश होने का अनुमान है. उत्तर पश्चिम के मैदानी इलाकों में भी अगले 24 घंटों के दौरान यानी 9 जनवरी तक भारी बारिश हो सकती है. वहीं, देश के मध्य भाग में 8 से 12 जनवरी के बीच तेज आंधी आ सकती है.

इन राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

मौसम विभाग के मुताबिक, 9 जनवरी को हिमाचल प्रदेश और 9 जनवरी को ही उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में बारिश और बर्फबारी होने की उम्मीद है. जिससे ठंड काफी बढ़ सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक, विदर्भ, छत्तीसगढ़

झारखंड और तेलंगाना 10 और 11 जनवरी को इसी तरह के हालात से प्रभावित होंगे. इसके बाद ही बारिश से राहत मिल सकेगी.

रविवार तक आसमान में छाए रहेंगे बादल

दिल्ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में शुक्रवार की आधी रात के बाद से ही बारिश शुरू हो गई थी, जो शनिवार सुबह से लेकर शाम तक जारी रही. मौसम विभाग के मुताबिक, अगले कुछ घंटों में राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में मध्यम से भारी बारिश का अनुमान है. IMD ने पहले ही बताया था कि राजधानी और आसपास के इलाकों में हल्की से मध्‍यम बारिश होने की संभावना है. दिल्ली के विभिन्न इलाकों में हो रही बारिश के साथ ही तापमान में गिरावट भी दर्ज की

गई है. मौसम विभाग के अनुसार रविवार तक आसमान में बादल छाए रहेंगे.

दिल्ली में 22 साल बाद जनवरी में एक दिन में सर्वाधिक बारिश हुई

दिल्ली में शनिवार को 22 साल बाद जनवरी में एक दिन में सर्वाधिक बारिश दर्ज की गई जिससे करीब दो महीनों में शहर में सबसे अच्छी वायु गुणवत्ता दर्ज की गई. शहर में न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से आठ डिग्री ज्यादा है. रिकॉर्ड बारिश के कारण न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, पुल प्रहलादपुर, रिंग रोड और मंडावली जैसे राष्ट्रीय राजधानी के निचले इलाकों में पानी भर गया.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक सफदरजंग वेधशाला ने शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे समाप्त हुई 24 घंटे की अवधि में 41 मिलीमीटर बारिश दर्ज की जो जनवरी माह के लिए पिछले 22 वर्षों में सबसे अधिक है. इससे पहले शहर में जनवरी महीने में एक दिन में सर्वाधिक वर्षा 1999 में 46 मिलीमीटर दर्ज की गई थी. पालम में मौसम केंद्र ने शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में 47.6 मिमी बारिश दर्ज की.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार रात भर हुई बारिश के कारण शहर की वायु गुणवत्ता में सुधार देखा गया और शाम चार बजे बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 91 दर्ज किया गया, जो ‘संतोषजनक’ श्रेणी में आता है. पिछली बार दिल्ली की हवा इस श्रेणी में पिछले साल 25 अक्टूबर को थी. मौसम विभाग ने रविवार को हल्की बारिश के साथ बादल छाए रहने का अनुमान जताया है.

हिमपात के कारण श्रीनगर हवाई अड्डे पर यातायात प्रभवित, 40 विमान रद्द

कश्मीर में भारी हिमपात के कारण शनिवार को यहां हवाई अड्डे पर दृश्यता बहुत कम हो गई जिसके कारण यहां से सभी निर्धारित उड़ानें रद्द कर दी गयी. इसके बाद कश्मीर का देश के बाकी हिस्सों से हवाई संपर्क टूट गया. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को यहां दोपहर बाद शुरू हुई बर्फबारी कश्मीर घाटी के अधिकतर स्थानों पर दिन भर जारी रही. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के एक अधिकारी ने कहा, ”श्रीनगर हवाई अड्डे से संचालित होने वली सभी 40 उड़ानों को हिमपात के कारण रद्द करना पड़ा.”

उन्होंने कहा कि बर्फबारी से हवाई अड्डे पर दृश्यता 600 मीटर से भी कम हो गई. अधिकारी ने कहा कि कम दृश्यता से संबंधित समस्याओं का जल्द ही समाधान किया जाएगा क्योंकि इस साल नवंबर तक हवाईअड्डे पर एक उन्नत उपकरण लैंडिंग सिस्टम (आईएलएस) स्थापित किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here