सरपंच की गिरफतारी के खिलाफ जन अभियान, बिहार की प्रतिरोध सभा

131

सरपंच की गिरफतारी के खिलाफ जन अभियान, बिहार की प्रतिरोध सभा
पटना । 16 नवम्बर
सारण जिले के परसा थाना के सगुनी पंचायत की निवर्तमान सरपंच श्रीमती बिन्दु देवी की पुलिस द्वारा की गई अन्यायपूर्ण गिरफ्तारी के खिलाफ जन अभियान, बिहार ने बुद्ध स्मृति पार्क पर एक प्रतिरोध सभा आयोजित किया जिसे विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने संबोधित किया । साथी नन्दकिशोर सिंह के संचालन में सभा को संबोधित करने वालों में सीसीआई के सतीश, एनएपीएम के महेन्द्र यादव, सर्वहारा जन मोर्चा के राधेश्याम, नागरिक अधिकार रक्षा मंच के संजय श्याम, जनवादी लोकमंच के प्रकार, सीपीआई (एम एल ‘ के अरविन्द सिन्हा, एमसीपीआई (यू ) के जमीर, जसवा के मणिलाल, इफ्टू (सर्वहारा ) की आकांक्षा प्रिया, बिहार प्रदेश पंच – सरपंच के कार्यकारी अध्यक्ष, किरणदेव यादव, किशोरी दास, अशोक प्रियदर्शी, द्वारिका पासवान, कासिफ युनूस, दिलीप पासवान प्रमुख थे ।
सभी वक्ताओं ने जन अभियान, बिहार के साथ अन्य मानवाधिकार d सामाजिक संगठनों की जाँच टीम का हवाला देते हुए कहा कि इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका संदेहास्पद, पक्षपातपूर्ण एवं बदले की भावना से प्रेरित रही है । दरअसल बिन्दु देवी एक सुलझी हुई व न्यायिक मामलों की जानकार महिला हैं । अपने कार्यकाल के दौरान झगडे व विवादित कई मामलो में संबंधित पक्षों को बीच सुलह – समझौते करवाये थे जिससे कारण स्थानीय प्रशासन अपनी नाजायज कमाई बंद होते देख इनके काफी खफा था । गिरफतारी के दिन स्थानीय विशुनपुरा गांव में दो चचेरे भाइयों के बीच हुए विवाद को सलटाने के लिए वह घटनास्थल पर गई थी । इनसे खफा स्थानीय प्रशासन, पंचायत चुनाव में इनके प्रतिद्वंदी मुखिया, डीलर आदि ने दवाब बनाकर एक पक्ष से इनपर और इनके वकील पति मणिलाल पर झूठा मुकदमा दर्ज करवाया और बिना सोचे समझे थाना प्रभारी ने बिन्दु देवी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया ।
वक्ताओ ने बिन्दु देवी की अविलंब रिहाई, जसवा के प्रदेश संयोजक मणिलाल पर लादे गये झूठे मुकदमे की वापसी ,दोषी पुलिस अधिकारियों को दंडित करने के साथ ही इस तरह के अन्य फर्जी मुकदमे में निर्दोष लोगों के फंसाये जाने पर रोक लगाने की पुरजोर मांग किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here