लखीमपुर खीरी की घटना के खिलाफ कांग्रेस आज देशभर में करेगी प्रदर्शनलखीमपुर खीरी जा रहीं प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया, अनशन पर बैठींभाजपा को नेताओं को लखीमपुर खीरी ‘जाने से रोकने का अधिकार नहीं’ : माकपा

145

नई DELHI/टीम डिजिटल। लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ मौतों को लेकर सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने इस घटना के विरोध में मंगलवार को देशभर में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन का ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में लेने और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का विमान लखनऊ में उतरने की इजाजत नहीं देने के प्रदेश सरकार के आदेश से पार्टी बुरी तरह भड़की हुई है।

कांग्रेस COGRESS प्रवक्ता राजीव शुक्ला ने यहां प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि दस साल तक कांग्रेस की सरकार थी, कभी किसी विपक्षी दल अथवा नेता को किसी घटना स्थल पर जाने से नहीं रोका गया। उन्होंने बताया कि 26/11 के ऑपरेशन के वक्त मौजूदा प्रधानमंत्री बतौर गुजरात मुख्यमंत्री ओबेरॉय होटल के सामने तक पहुंचे थे, उन्हें किसी ने नहीं रोका था। लेकिन आज जब किसानों को कुचल कर मारा गया है तो प्रियंका गांधी, हमारे दो मुख्यमंत्रियों समेत बाकी नेताओं को संवेदना व्यक्त करने के लिए भी नहीं जाने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह नया तरीका अपनाया गया है कि हर तरफ से बंद कर दो, किसी को जाने मत दो और गिरफ्तार कर लो। यह सीधे-सीधे लोकतंत्र पर हमला है। विपक्ष की आवाज दबाई जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रियंका गांधी की हिरासत खत्म करने और उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने जाने देने, जो किसान मरे, उनके परिवारों को मुआवजा और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी, उनके बेटे आशीष मिश्रा और भाजपा के जो लोग भी इस घटना में दोषी हैं, उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्रेस मंगलवार को देशभर में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन करेगी। एक सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता ने कहा कि किसानों के अलावा जो अन्य लोग इस घटना में मरे हैं, उसकी जांच होनी चाहिए।

लखनऊ से लखीमपुर खीरी किसानों से मिलने जाते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रातभर यूपी पुलिस को खूब छकाया लेकिन अलसुबह सीतापुर में बैरीकेड्स लगाकर उन्हें रोक लिया गया। इस दौरान उनके साथ राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी थे। कांग्रेस का आरोप है कि पुलिस वालों ने प्रियंका और हुड्डा के साथ धक्का मुक्की की और बगैर कोई आदेश दिखाए, अवैध तरीके से हिरासत में लिया है। खबर लिखी जाने तक प्रियंका सीतापुर में पीएसी कैंप के गेस्ट हाउस में पुलिस हिरासत में थीं। इस दौरान गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाते हुए प्रियंका का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। प्रिंयका घटना में मृत और घायल किसानों के परिवारों से मिलने की जिद पर अड़ी हैं और गेस्ट हाउस में ही अनशन पर बैठी हैं।

बघेल बोले, यूपी में छीन लिया गया हैं नागरिक अधिकार
लखनऊ आने की इजाजत नहीं दिए जाने के यूपी सरकार और स्थानीय प्रशासन के रुख से नाराज छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और यूपी में कांग्रेस पर्यवेक्षक भूपेश बघेल ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में नागरिक अधिकारों को छीन लिया गया है। उन्होंने सवाल किया कि क्या उत्तर प्रदेश जाने के लिए पासपोर्ट-वीजा की जरूरत है? बघेल दरअसल, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के पीड़ित किसान परिवारों से मिलने जाना चाहते थे। लेकिन उनके विमान को लखनऊ में उतरने की इजाजत नहीं दी गई। इसके बाद दिल्ली पहुंचे बघेल ने यहां कांग्रेस मुख्यालय, 24 अकबर रोड पर एक प्रेस कान्फ्रेंस कर भाजपा और यूपी सरकार पर सीधा हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि बगैर किसी लिखित आदेश और वाजिब कारण के लोगों को अवैध रूप से हिरासत में लिया जा रहा है। अभद्र व्यवहार, धक्का-मुक्की की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह स्थितियां ही बताती हैं कि किसानों के खिलाफ किस कदर भाजपा है और वह किसी भी विरोध को बर्दाश्त नहीं करना चाहती।

यूपी में जंगलराजः वेणुगोपाल
कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान में यूपी में जंगलराज का आरोप लगाते हुए किसानों की मौत को हत्या करार दिया और आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की। इसके पहले, राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने एक बयान में कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना लोकतांत्रिक मूल्यों पर बड़ा आघात है। उन्होंने आरोप लगाया कि दोषियों को बचाने के लिए राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन पूरे मामले में लीपापोती करने में जुटी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here