चीन में बिजली संकट, रुक गया एपल-टेस्ला का काम, आखिर अपने ही देश को अंधेरे में क्यों डुबा रहे शी जिनपिंग?

128

चीन में बिजली संकट लगातार गहराता जा रहा है. इससे आम लोग तो परेशान हैं ही, साथ ही फैक्ट्रियों तक में काम नहीं हो पा रहा. बिजली कटौती के कारण हालात इतने बिगड़ गए हैं कि एपल और टेस्ला जैसी बड़ी कंपनियों का कारोबार तक प्रभावित हो रहा है (Electricity Crisis in China). इन कंपनियों के कुछ सप्लायर्स को अपने कई प्लांट पर काम रोकना पड़ा है. बिजली संकट के कारण कंपनियों का उत्पादन पहले की तरह नहीं हो पा रहा. कंपनियों से कहा गया है कि वह कम मात्रा में उत्पादन करें, ताकि बिजली की खपत भी कम हो. लेकिन सरकार की इसी रोक से दुनियाभर में सप्लाई चेन पर असर पड़ना तय है.

इस संकट के पीछे की दो वजह बताई जा रही हैं. पहली कोयले की कमी और दूसरी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कार्बन उत्सर्जन कम करने के लक्ष्यों को पूरा करना. जिसके चलते सरकार बिजली कटौती कर रही है. चीनी सरकार जिनपिंग के इन लक्ष्यों को हकीकत में बदलने के लिए काम कर रही है (China Power Crisis Reason). संकट ऐसे समय में आया है, जब देश में विनिर्माण अधिक होने के कारण कोयले और गैस की मांग काफी बढ़ गई है और इसी वजह से इनके दाम में भी भारी इजाफा हुआ है. चीन के इन फैसलों का असर वैश्विक आपूर्ति श्रंख्ला पर होगा, जो पहले से ही कोविड-19 प्रतिबंधों के कारण प्रभावित है.

कंप्यूटर-चिप की होगी शॉर्टेज

कंपनियों का काम ठप होने से वैश्विक स्तर पर कंप्यूटर-चिप की कमी हो जाएगी. जिसके चलते टेक कंपनियों को नुकसान झेलना पड़ेगा. एक रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाने वाली कंपनियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. ताइवान की 10 से अधिक कंपनियों ने महीने के आखिर तक काम बंद करने का फैसला लिया है (China Power Crisis). एपल और टेस्ला को सप्लाई करने वाली ताइवान की तीन इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों ने रविवार को कहा कि इन्हें मजबूरन चीन में स्थित अपनी कंपनियों में काम रोकना पड़ रहा है.

टेस्ला सीईओ मस्क ने जताई चिंता

एपल और टेस्ला (Apple Tesla China) ने मामले में कोई बयान जारी नहीं किया है. लेकिन टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘यह एक गंभीर चिंता का विषय है.’ इससे पहले मस्क कह चुके हैं कि कंप्यूटर-चिप की शॉर्टेज के कारण इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने वाली कंपनियों को काफी परेशानी होती है. वहीं एपल के सप्लायर यूनिमिरोन टेक्नोलॉजी ने कहा कि उनकी चीन में स्थित तीन सहायक कंपनियों को काम रोकना पड़ रहा है. उसने कहा कि इन कंपनियों के काम रोकने से ज्यादा नुकसान नहीं होगा, क्योंकि दूसरे प्लांट पर उत्पादन बढ़ा दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here