संजय दत्त प्रोडक्शंस की पहली मराठी फ़िल्म “बाबा” ने लगा दी इंटरनेशनल पुरस्कारों की झड़ी

313

संजय दत्त हाल ही में मान्यता दत्त के साथ अपनी पहली मराठी प्रोडक्शन फ़िल्म “बाबा” के साथ दर्शकों से मुखातिब हुए थे जिसे शानदार प्रतिक्रिया मिली है। यही नहीं, फ़िल्म “बाबा” ने प्रतिष्ठित राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार समारोहों में बड़ी जीत हासिल की है जिसकी सूची में कई उल्लेखनीय प्रॉजेक्ट शामिल है। इस फ़िल्म ने एशिया पैसिफिक फिल्म फेस्टिवल के 59वें एडिशन और एलआईएफएफटी इंडिया अवार्ड्स 2019 में बड़ी जीत हासिल की है। “बाबा” को विभिन्न श्रेणियों में बारह नामांकन मिले थे और मकाऊ में आयोजित एशिया पैसिफिक फिल्म फेस्टिवल के 59वें एडिशन में तीन पुरस्कार जीतने में सफल रही है।

वैश्विक मंच पर बड़ी जीत हासिल करते हुए, “बाबा” ने अपनी जीत का सिलसिला जारी रखा है, जहां राज आर गुप्ता ने सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार जीता, दीपक डोबरियाल ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और अर्जुन सोरटे ने सर्वश्रेष्ठ सिनेमेटोग्राफर का ख़िताब अपने नाम कर लिया है।

वर्ष 1990 में महाराष्ट्र के एक छोटे से गाँव में स्थापित, बाबा एक परिवार की दिल को छू लेने वाली कहानी है, जो एक साथ हँसती है व एक साथ रोती है और हर परिस्थिति में एक दूसरे का साथ देती है और उनका मानना है कि ज़िन्दगी के अंधेरे में भी खुशी खोजी जा सकती है। एलआईएफएफटी इंडिया अवार्ड्स 2019 में, फिल्म ने वर्ष की ‘सर्वश्रेष्ठ फिल्म’ का ख़िताब जीता है।

सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए अवार्ड राज आर गुप्ता को दिया गया है, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए ओम पुरी पुरस्कार दीपक डोबरियाल को दिया गया और सर्वश्रेष्ठ बाल अभिनेता का पुरस्कार आर्यन मेघजी अपने घर ले कर गए है।

जीत की यह लंबी सूची यहीं समाप्त नहीं होती है और यहां तक कि सकाल प्रीमियर अवार्ड्स 2019 में, “बाबा” ने क्रमशः सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार, सर्वश्रेष्ठ कहानी, सर्वश्रेष्ठ पटकथा और जूरी विशेष पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता महिला व सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरुष के लिए पुरस्कार अपने नाम कर लिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here