T20 वर्ल्ड कप 2022 : 16 कप्तान, 16 बातें. जानिए हर एक के इरादे

329

T20 World Cup 2022 में हिस्सा ले रही सभी 16 टीमों के कप्तानों की प्रेस कॉन्फ्रेंस 15 अक्टूबर को मेलबर्न में हुई. हर कप्तान ने अपनी-अपनी टीम की बात रखी.

उनकी बातों से उनकी टीम के इरादों का भी पता चलता है. और, अगर आप भी इन 16 कप्तानों के बयानों को बारी-बारी से पढ़ेंगे तो एक अनुमान लगा सकते हैं कि उनकी सोच क्या है और वो कितना दम रखते हैं?

मेलबर्न में प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत न्यूजीलैंड के कप्तान के साथ हुई और फिर बारी-बारी से इसमें दूसरे सारे कप्तान जुड़कर कारवां बनाते गए. खास बात ये रही कि सभी कप्तान प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक साथ बैठे थे, ना कि अलग-अलग. आईए एक नजर डालते हैं हर एक की कही सबसे बड़ी बात पर:

16 कप्तान, 16 बातें

केन विलियमसन (न्यूजीलैंड)- लोग हमें अंडरडॉग समझते हैं तो समझें. हमारी तरह हर टीम के साथ अलग टैग जुड़ा है. और, ये साल दर साल बदलता भी है. हमने पिछले साल फाइनल खेला था. इस बार भी हमारी टीम में कई मैच विनर्स हैं.

मोहम्मद नबी ( अफगानिस्तान)-हमारे देश में राजनीतिक हालात जैसे हैं, उससे हर कोई परिचित है. हम अपने परफॉर्मेन्स से अपने देशवासियों के चेहरे पर मुस्कान लाना चाहते हैं.

दसुन शनका (श्रीलंका)- हम आत्मविश्वास से लबरेज हैं. हमारा फोकस T20 वर्ल्ड कप जीतना है. लाहिरू कुमारा और दुष्मंता चामीरा की वापसी से हमारा जोश बढ़ा है.

एरॉन फिंच (ऑस्ट्रेलिया)- सही वक्त पर चीजों का ना सबसे जरूरी है. हमारी टीम में बैलेंस है. सभी को अपना रोल पता है. एक टीम के तौर पर हम अच्छा फील कर रहे हैं.

जोस बटलर (इंग्लैंड)-आम तौर पर मेजबान देश हमेशा फेवरेट होता है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया डिफेंडिंग चैंपियन भी है. लेकिन फिर T20 ऐसा गेम है जिसमें छोटा मार्जिन भी बड़ा मायने रखता है.

सीपी रिजवान ( UAE)-हमारा लक्ष्य पहले सुपर 12 के लिए क्वालिफाई करने का है. फिर उसके बाद टूर्नामेंट के आगे के सफर के बारे में हम सोचेंगे.

निकोलस पूरन (वेस्ट इंडीज)-हम ज्यादा दबाव नहीं ले रहे. हम बस बेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं. ताकि क्वालिफाइंग राउंड क्लियर कर अगले दौर में जा सकें.

रोहित शर्मा ( भारत)-पाकिस्तान से मैच बड़ा है पर हम हमेशा उसके बारे में बात नहीं करते. शमी के आने से गेंदबाजी में अनुभव बढ़ा है. हम बुमराह को जरूर मिस करेंगे. पर इंजरी एक ऐसी चीज है जिस पर आप कंट्रोल नहीं कर सकते.

बाबर आजम (पाकिस्तान)-पाकिस्तान को हमेशा उसकी तेज गेंदबाजी के लिए जाना गया है. शाहीन अफरीदी की वापसी से हमारी गेंदबाजी ताकत बढ़ी है. हारिस रउफ भी अच्छा कर रहे हैं. हमारे पास ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जिससे बेहतर कॉम्बिनेशन बनाने में मदद मिलेगी.

टेंबा बावुमा (साउथ अफ्रीका)-बेशक हम थोड़े दबाव में हैं लेकिन महत्वपूर्ण ये रहेगा कि हम अपने खेल का भरपूर आनंद लें.

शाकिब अल हसन (बांग्लादेश)-हमारी टीम नई है. मुझे लगता है कि जितने खिलाड़ी हैं वो सब ऑस्ट्रेलिया में पहली बार T20 मैच खेलेंगे.

एंड्रयू बालबर्नी (आयरलैंड)-पिछले साल के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद, नए कोच की कमान में हमने काफी तैयारी की है. टीम में कई सीनियर खिलाड़ी भी आ गए हैं.

स्कॉट एडवर्ड्स (नेदरलैंड्स)- हमने कभी MCG पर क्रिकेट नहीं खेली. लेकिन टूर्नामेंट के किसी मोड़ पर वहां खेलने को लेकर उत्साहित हूं.

रिची बेरिंग्टन (स्कॉटलैंड)- इस साल हमने जो बेहतरीन प्रदर्शन किया है, उससे हमारा आत्मविश्वास पिछले साल खेले टी20 वर्ल्ड कप की तुलना में बढ़ा है. हम अच्छी शुरुआत के लिए तत्पर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here