सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: फरार आरोपी दीपक टीनू गिरफ्तार, अजमेर से दिल्ली पुलिस ने दबोचा

234

दिल्ली पुलिस ने सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य आरोपी दीपक टीनू को राजस्थान के अजमेर से बुधवार को गिरफ्तार कर लिया. सूत्रों ने बताया कि पंजाब पुलिस की एजीटीएफ की टीम भी अजमेर में आरोपी की तलाश कर रही है.

हालांकि, दिल्ली पुलिस पहले उसे ट्रेस करने में सफल रही. टीनू मनसा पुलिस की हिरासत से फरार हो गया था. एक सीआईए इंस्पेक्टर को उसके भागने के लिए सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था.

गर्लफ्रेंड के साथ फरार हुआ था दीपक टीनू

पुलिस सूत्रों का दावा है कि सीआईए प्रभारी प्रीतपाल सिंह टीनू को अपनी निजी ब्रेजा कार में सीआईए मानसा कार्यालय से मानसा के सिविल लाइंस स्थित अपने सरकारी आवास बी-4 में ले गया था. जहां टीनू अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए एक कमरे में अकेला रह गया और प्रीतपाल सिंह दूसरे कमरे में चला गया. इस दौरान टीनू अपनी प्रेमिका के साथ मौके से फरार हो गया.

दीपक पर हैं संगीन आरोप

टीनू उन 24 आरोपियों में से है, जिनके नाम मूसेवाला मामले में मानसा पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट में शामिल हैं. उसे चार जुलाई को दिल्ली से ट्रांजिट रिमांड पर तिहाड़ जेल से पूछताछ के लिए लाया गया था. चार्जशीट के अनुसार, टीनू लॉजिस्टिक सहायता प्रदान करने में शामिल था. सिद्धू मूसेवाला की हत्या को अंजाम देने के लिए वह तिहाड़ जेल में बंद बिश्नोई से संपर्क में था. विदेश में छिपे मास्टरमाइंड गोल्डी बरार की भी उसने अहम मदद की थी.

लंबा है क्रिमिनल रिकॉर्ड

दीपक टीनू 2017 में पुलिस की हिरासत से फरार हो गया था. टीनू को हरियाणा से उसके एक सहयोगी ने भागने में मदद की थी. उसने पंचकुला के सिविल अस्पताल में एक पुलिस अधिकारी की आंखों में मिर्च स्प्रे छिड़का था और टीनू को भगा ले गया था. गैंगस्टर को उसी साल दिसंबर में भिवानी पुलिस ने बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था. टीनू पर कई राज्यों में हत्या और रंगदारी समेत कई मामले दर्ज हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here