विपक्षी दल हुए एक साथ,ममता देंगी नीतीश का साथ|

275
विपक्षी दल हुए एक साथ,ममता देंगी नीतीश का साथ|

विपक्षी दलों को उम्मीद है कि नीतीश के एनडीए छोड़ महागबंधन के साथ आने का फैसला 2024 में बिहार से बाहर भी देश में विपक्ष को एकसूत्र में बांध सकता है। ऐसे में नीतीश उसके लिए नए तारणहार हो सकते हैं। विपक्ष की तरफ से 2024 में पीएम पद का उम्मीदवार कौन होगा, फिलहाल इस पर तो कोई चर्चा नहीं हो रही, लेकिन ममता बनर्जी ने ऐलान कर दिया है कि वह 2024 में विपक्षी एकजुटता की पक्षधर है. ममता बनर्जी ने कोलकाता में ऐलान करते हुए कहा है कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी खड़ी है तो दूसरी तरफ हम सभी विपक्षी दल एक साथ खड़े होंगे. बीजेपी के 300 सीटों का अहंकार 2024 में टूट जाएगा.

दरअसल ममता बनर्जी ने दिल्ली पहुंचकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात तो नहीं की, लेकिन कोलकाता में ही अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के एक कार्यक्रम में ममता ने ऐलान किया कि 2024 में विपक्ष एकजुटता की वह पक्षधर है. इतना ही नहीं ममता बनर्जी ने यह भी संकेत दिया कि नीतीश कुमार और हेमंत सोरेन जैसे मुख्यमंत्रियों को साथ लेकर विपक्षी एकजुटता बनाने में मदद मिलेगी. ममता ने दावा किया कि हाल ही में बंगाल पुलिस ने झारखंड के विधायकों को के साथ गिरफ्तार किया था और इसी पहल पर हेमंत सोरेन की सरकार गिरने से बच गई. इतना ही नहीं अलग-अलग मामलों में केंद्रीय एजेंसियों की तरफ से मूल कांग्रेस के नेताओं की गिरफ्तारी के बाद उनकी पार्टी के तरफ से बीजेपी के खिलाफ तौर पर आगे बढ़ने का फैसला किया गया है.

ममता बनर्जी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी सभी विपक्षी दल के नेताओं को अलग-थलग करके दिल्ली में राज करना चाहती है. ममता ने दावा किया कि खेल जारी है और विधानसभा चुनाव के बाद टीएमसी अब लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी को पटखनी देने की तैयारी में जुटी हुई है. बीजेपी को हराकर तीसरी बार सत्ता वापसी करने वाली ममता बनर्जी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को ऐसा लगता है कि वह सीबीआई और ईडी से डरा कर हमें चुप करा देगी, लेकिन 2024 में उसे जमीनी हकीकत का अंदाजा हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here