रामानंद यादव करेंगे खेतान मार्केट और लोदीपुर स्थित सिटी सेंटर के निर्माण की जांच

377
रामानंद यादव करेंगे खेतान मार्केट और लोदीपुर स्थित सिटी सेंटर के निर्माण की जांच

BJP के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी पर अवैध तरीके से संपति बनाने का आरोप बिहार सरकार के मंत्री रामानंद यादव ने लगाया था।  बाकरगंज स्थित खेतान मार्केट और लोदीपुर स्थित सिटी सेंटर के निर्माण की जांच खान एवं भूतत्व मंत्री डॉ० रामानंद यादव कराएंगे। इसे लेकर नगर विकास विभाग को आवेदन देंगे और जांच की मांग करेंगे।

रामानंद यादव ने बताया कि लोदीपुर सिटी सेंटर से जुड़े मामले लेकर बैपटिस यूनियन चर्च बाकरगंज के सचिव राजेश बिल्सन, लोदीपुर चर्च के पास्टर इंचार्ज मोजज विक्टर थॉमस आए थे वहीं खेतान मार्केट से संबंधित केस लेकर राम नरेश सिंह हमारे पास आए थे। इन्होंने आवेदन दिया था कि सुशील मोदी के भाई महावीर मोदी व अन्य लोगों अवैध निर्माण में संलिप्तता है। मंत्री रामानंद यादव ने कहा कि मामला सामने आने के बाद हमने यह कहा था कि हम इसकी कराएंगे और जो भी दोषी पाए जाएंगे उन पर कार्रवाई होगी।

वहीं बैपटिस यूनियन चर्च बाकरकंज के सचिव राजेश बिल्सन ने बताया कि सिटी सेंटर मॉल लोदीपुर मिशन की जमीन पर बनीं है। ये बैप्टिस्ट मिशनरी सोसाइटी कॉरेपोरेशन द्वारा बेची गयी है। जो कंपनी इंग्लैंड में अवस्थित है। उसने पावर ऑफ अटार्नी असित घोष नामक एक व्यक्ति को जमीन को बेचने के लिए दिया। जब यह जमीन बिक गयी उसके बाद आरटीआई दायर की गयी। असित घोष की पावर ऑफ अटार्नी की मांग की लेकिन नहीं मिला। जवाब नहीं मिलने के बाद हम कोर्ट में गये मामले पर सुनवाई होने के बाद चिट्ठी दी गयी।

चिट्ठीं में यह लिखा था कि असित घोष की पावर ऑफ अटार्नी कार्यालय में संधारित नहीं है। जब हमलोगों ने आरटीआई डाला उससे पहले रजिस्ट्री हो चुकी थी लेकिन बिना पावर ऑफ अटार्नी के जमीन की रजिस्ट्री कैसे हो गयी। जिसके बाद सिविल कोर्ट में टाइटल सुट फाइल किया और पटना हाईकोर्ट में नक्शे को चैलेंज किया। टाउन कमिश्नर कुलदीप नारायण ने सुनवाई करते हुए नक्शे को रद्द कर दिया।

जबकि बाकरगंज स्थित खेतान मार्केट से जुड़े मामले को लेकर छपरा के रहने वाले राम नरेश सिंह मंत्री रामानंद के पास पहुंचे थे। राम नरेश सिंह का कहना था कि उनकी जमीन पर अवैध निर्माण और जबरन कब्जा किया गया है इसकी जांच करायी जाए। खुद राम नरेश सिंह ने बताया कि बैप्टिस्ट यूनियन ऑफ नार्थ इंडिया के अध्यक्ष वॉलटर डेविड की सहमति पर पटना बैप्टिस्ट यूनियन अध्यक्ष तथा उपरोक्त वर्णित जमीन के पावर ऑफ अटॉर्नी होल्डर मनोहर दास के द्वारा मुझे हकियत परपेचुअल लीज डीड से ट्रांसफर किये गये भूमि पर विधिक रूप से मेरा जमाबंदी कायम हुआ। 2015 तक मेरे कब्जे में रहा।

लेकिन 1988 में मोती लाल खेतान ने मेरे साथ 20 मार्च 1988 को परपेचुअल लीज ट्रांसफर का एकरारनामा किया लेकिन एकरारनामा कि शर्तों को पूरा किये बिना ही 1993-94 में खेतान मार्केट के नाम से बिल्डिंग निर्माण कर लिया गया। अपनी शिकायत लेकर नरेश कुमार सिंह खान एवं भूतत्व मंत्री रामानंद यादव के पास पहुंचे और अपनी समस्याएं उनके समक्ष रखी।

मंत्री रामानंद यादव ने बैपटिस यूनियन चर्च बाकरगंज के सचिव राजेश बिल्सन, लोदीपुर चर्च के पास्टर इंचार्ज मोजज विक्टर थॉमस और राम नरेश सिंह की बातों को सुना और इस मामले की जांच कराए जाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि वे इस मामले की जांच के लिए नगर विकास विभाग में आवेदन देंगे। इस मामले की जांच करायेंगे और जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

वहीं खान एवं भूतत्व मंत्री डॉ० रामानंद यादव ने बीजेपी नेता सुशील मोदी द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को झूठा और भ्रामक बताया। रामानंद यादव ने कहा कि मुझ पर लगाया गया आरोप झूठा और भ्रामक है। मुझ पर आर्म्स रखने का झूठा आरोप लगाया गया था। सुशील मोदी ने दंबग होने का आरोप मुझ पर लगाया था। बीएससी के बाद एमएससी किए बिना पीएचईडी कर लिये जाने का आरोप लगाया। लेकिन यह आरोप भी गलत निकला। बता दें कि 1987 में पटना यूनिवर्सिटी से हमने एमएससी किया हैं। नोमिनेशन के दौरान लिपिक ने भूलवश पूरी जानकारी नहीं दी थी। सुशील मोदी ने कई आपराधिक मामले से मेरा नाम जोड़ा था जो निराधार है।

रामानंद यादव ने कहा कि जिस केस का हवाला देकर गंभीर आरोपों की बात की हैं उस केस में माननीय न्यायालय ने सभी आरोपों से बरी करते हुए मुझे निर्दोष पाया। जो कि Session Trial Case No.-33/2019 के Judgment की कॉपी में देखी जा सकती हैं। आदेश की अभिप्रमाणित छायाप्रति मीडिया बंधुओं के लिए उपलब्ध है। एक अन्य आपराधिक मामले में मैं FIR में नामजद भी नहीं हूँ. बल्कि एक राजनीतिक है जिससे मेरा कोई षड़यंत्र के तहत केस डायरी में नाम आया सम्बन्ध नहीं है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 1977 में Commerce College से B.Sc में स्नातक और वर्ष 1987 में Science College, Patna University से M.Sc में स्नातकोत्तर उर्त्तीण किया था। वहीं वर्ष 1991 में Magadh University से Ph.D किया।

रामानंद ने कहा कि 16.08.2022 को मंत्री पद का शपथ लिया और 17.08.2022 को मेरे पास कुछ अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के लोग अपने साथ लिखित शिकायत लेकर आए थे। उनकी बातें सुनकर और आवेदन को पढ़कर उनकी जाँच की मांग को मैंने समर्थन किया और जाँच की माँग ही तो की है एक जिम्मेदार जनप्रतिनिधी होने के नाते ये मेरा कर्तव्य भी हैं कि अपने जनता की बात को सरकार तक लाऊँ।

लोदीपुर पटना के ईसाई अल्पसंख्यको की भूमि में उत्कर्ष स्फाटिक लिमिटेड द्वारा City Centre Mall एवं बहुमंजिले इमारतों का निर्माण किया। उत्कर्ष स्फाटिक लिमिटेड में 2005 से 2010 तक हरिश कुमार मोदी और सदैय कृष्ण कनौरिया एवं अन्य डायरेक्टर थे।

2005 से 2008 तक खान एवं भूतत्व मंत्री सुशील कुमार मोदी रहे हैं एवं 2017 से 2020 तक उप मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री रहे हैं। 2005 से 2008 तक ब्रॉडसन एवं मोर मुकुट कंपनी को इन्होंने Extension दिया जिसमें डायरेक्टर कुंज सिंह एवं मिथलेश सिंह और सुभाष यादव क्रमश: हैं। इसी कंपनी को फिर से 2017 के अक्टूबर 10 से 2019 तक Extension दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here